योगी सरकार ने 40 लाख लोगों को मुफ्त इलाज के साथ साथ 50000 युवाओं को सरकारी नौकरी देने का किया ऐलान

योगी सरकार ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से वंचित करीब 40 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल किए जाने के प्रस्ताव को मंत्रिपरिषद ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। इस योजना की तहत प्रत्येक परिवार को निजी और सरकारी अस्पतालों में सालाना पाँच लाख रुपए तक के नि:शुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी।

बुधवार को राज्‍य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने पत्रकारों को बातचीत में बताया की, बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि अन्त्योदय कार्डधारक परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल किए जाने पर इस योजना हेतु आवंटित बजट से अधिक संभावित व्यय होने की स्थिति में अनुपूरक माँग पत्र के माध्यम से अतिरिक्त बजट आवंटित किया जाए।

उनके अनुसार मंत्रिपरिषद ने भविष्य में इस योजना में किसी भी प्रकार के परिवर्तन की आवश्यकता होने पर इसके लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत किया है। सिंह ने आगे कहा कि इस निर्णय से समाज के अंतिम पायदान पर खड़े अन्त्योदय कार्डधारक परिवारों को बीमारी की स्थिति में होने वाले व्यय से सुरक्षा मिलेगी तथा अंत्योदय कार्डधारक परिवार इस निर्णय से सीधे लाभान्वित होंगे।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि उनको किसी के बहकावे में नहीं आना चाहिए। पहले की सरकारों पर हमला बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि यूपी में अब किसी को भी गलत करने की छूट नहीं है। इस अवसर पर उन्होंने यह भी कहा कि दिसंबर तक 50000 और नौजवानों को सरकारी नौकरी मिलेगी।

बता दें उत्तर प्रदेश में आयुष्यमान भारत योजना में अब तक 1 करोड़ 18 लाख लोग शामिल किए गए हैं। जबकि मुख्यमंत्री आरोग्य योजना में 10 लाख लोगों को शामिल किया गया। इस तरह से इन दोनों योजनाओं में बचे रह गए 40 लाख अंत्योदय कार्ड धारकों को 5 लाख का बीमा देने के लिए मुख्यमंत्री जनारोग्य में जोड़ा जाएगा, जिसमें 102 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending