हिन्दू धर्म में क्यों पहना जाता जनेऊ, जानिए क्या है इसके लाभ

जनेऊ को हमेशा से सबसे पवित्र और शुभ माना गया है। कहते हैं कि व्यक्ति की देवत्त्व प्राप्ति के लिए जनेऊ सशक्त साधन है। जनेऊ को उपवीत, यज्ञसूत्र, व्रतबन्ध, बलबन्ध, मोनीबन्ध और ब्रह्मसूत्र भी कहते हैं। जनेऊ धारण करने की परम्परा बहुत ही प्राचीन है। लेकिन क्या आप जानते है कि जनेऊ धारण करने के पीछे धार्मिक और वैज्ञानिक कारण क्या है?
जनेऊ क्या है : 

आपने देखा होगा कि बहुत से लोग बाएं कांधे से दाएं बाजू की ओर एक कच्चा धागा लपेटे रहते हैं। इस धागे को जनेऊ कहते हैं। जनेऊ तीन धागों वाला एक सूत्र होता है। जनेऊ को संस्कृत भाषा में ‘यज्ञोपवीत’ कहा जाता है। यह सूत से बना पवित्र धागा होता है, जिसे व्यक्ति बाएं कंधे के ऊपर तथा दाईं भुजा के नीचे पहनता है। अर्थात इसे गले में इस तरह डाला जाता है कि वह बाएं कंधे के ऊपर रहे।
शास्त्रों में जनेऊ को यज्ञ सूत्र और ब्रम्हा सूत्र भी कहा जाता है। जनेऊ में तीन धागे का सूत्र ब्रम्हा, विष्णु और महेश का प्रतीक बताया गया है। जनेऊ को लेकर यह भी मान्यता है कि अविवाहित पुरुष तीन धागे वाला जबकि विवाहित पुरुष छह धागों वाला जनेऊ धारण करते हैं।

शास्त्रों के अनुसार जनेऊ पहनने के लाभ :

जनेऊ धारण करने वाला आदमी को लकवे मारने की संभावना कम हो जाती है क्योंकि आदमी को बताया गया है।

शास्त्रों के मुताबिक यह हृदय, आंतो और फेफड़ों की क्रियाओं पर इसका व्यापक असर पड़ता है। इससे आंतों की गति पड़ती है और कब्ज की समस्या भी दुर रहती है। 

जनेऊ को कान के ऊपर कसकर लपेटने का नियम है। ऐसा करने से कान के पास से गुजरने वाली उन नसों पर भी दबाव पड़ता है, जिनका संबंध सीधे आंतों से है। इन नसों पर दबाव पड़ने से कब्ज की श‍िकायत नहीं होती है। पेट साफ होने पर शरीर और मन, दोनों ही सेहतमंद रहते हैं। 
कान पर हर रोज जनेऊ रखने और कसने से स्मरण शक्त‍ि का क्षय नहीं होता है। इससे स्मृति कोष बढ़ता रहता है। कान पर दबाव पड़ने से दिमाग की वे नसें एक्ट‍िव हो जाती हैं, जिनका संबंध स्मरण शक्त‍ि से होता है। दरअसल, गलतियां करने पर बच्चों के कान पकड़ने या ऐंठने के पीछे भी मूल कारण यही होता था।

ऐसी मान्यता है कि जनेऊ पहनने वालों के पास बुरी आत्माएं नहीं फटकती हैं। इसका कारण यह है कि जनेऊ धारण करने वाला खुद पवित्र आत्मरूप बन जाता है और उसमें स्वत: ही आध्यात्म‍िक ऊर्जा का विकास होता है।

शोधानुसार मेडिकल साइंस ने भी यह पाया है जनेऊ पहनने वालों को हृदय रोग और ब्लड प्रेशर की आशंका अन्य लोगों के मुकाबले कम होती है। जनेऊ शरीर में खून के प्रवाह को भी कंट्रोल करने में मददगार होता है। 


More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending