सावन के इस महीने  में आखिर क्यों नहीं करना चाहिए इन चीजों का सेवन ?

15 जुलाई से सावन के पवित्र महीने की शुरुआत हो चुकी है. इस महीने में हमें हमारे खान-पान का विशेष ध्यान रखना होता है क्योंकि में बारिश काफी ज्यादा होती है जिसका असर हमार स्वास्थ्य पर भी पड़ता है. बरसात के मौसम में पाचन क्रिया के स्लो हो जाने से पेट के बिगड़ने का खतरा बना रहता है. इसलिए इसमें हम आपको आज कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें इस महीने अपनी डाइट में शामिल ना करना ही अच्छा रहता है. तो आइए जानते हैं।

1. ना करें कच्चे दूध का सेवन : सावन के महीने में कच्चे दूध का सेवन नहीं करना चाहिए. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन के महीने में कच्चा दूध भगवान शिव को चढ़ाया जाता है. इसलिए सावन में कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए. वहीं अगर बात वैज्ञानिक कारणों की सावन के महीने में कच्चा दूध ना पीने की करें तो इसके पीछे कारण यह है कि सावन में घास चड़ते समय गाय और भैंस घास में मौजूद कीड़ों को भी ग्रहण कर लेते हैं जिससे दूध दूषित हो जाता है.  इस प्रकार कच्चे दूध का सेवन पेट को खराब कर सकता है. 

2. कढ़ी से बनाए दूरी – सावन के महीने में कढ़ी का भी सेवन नहीं करना चाहिए. दरअसल कड़ी को दही या फिर छाछ से बनाया जाता है जिसमें दूध के दूषित कण कढ़ी में भी मिल जाते हैं. जिस प्रकार अगर आप कढ़ी का सेवन करते हैं तो एसिडिटी, कब्ज और लूज मोशन जैसी समस्याएं होने का खतरा बना रहता है.

3. दही को भी कहे ना : सावन के महीने में दही भी नहीं खाना चाहिए.  दरअसल दही भी दूध से बनाया जाता है. वही सावन में दही जल्दी खराब भी हो जाता है जिसके कारण दही का सेवन सावन के महीने में ना करना ही अच्छा रहता है। गौरतलब है कि बारिश के इस मौसम में हम्यूडिटी बढ़ जाती है जिससे खाना जल्दी खराब हो जाता है. हमें हमारे डाइट में मानसून के इस मौसम में कुछ चीजों को शामिल न करने की सलाह इसलिए दी जाती है ताकि हम पेट संबंधी कई प्रकार की परेशानियों से बच सकें. AFdZucrpW1iIcXKBd WYtgA0ZlBwcZxVxXHLW4v1m3cJ=s40 pReplyForward

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending