क्यों शुभ माना जाता है घर के भीतर शंख को स्थापित करना?? जानिए इसका धार्मिक महत्व

सनातन धर्म में शंख का अपना एक विशेष महत्व होता है। मान्यता है कि शंख में देवताओं का वास होता है। इसलिए पूजा-पाठ से लेकर किसी अच्छे कार्य की शुरुआत भी शंख बजाकर की जाती है। कहते हैं कि जिस घर में शंख होता है, वहां धन और आरोग्य की प्राप्ति होती है। भारतीय परंपरा में शंख को विजया, समृद्धि, यश और लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है।

शंख की उत्पत्ति
शंख के प्रादुर्भाव के बारे में कहा जाता है की सर्वप्रथम इसकी उत्पत्ति समुद्र मंथन के दौरान हुई थी। समुद्र मंथन में जिन 14 रत्नों की उत्पत्ति हुई थी उनमें से शंख भी एक था, जिसे भगवान विष्णु ने अपने कर कमलों में धारण किया।

विष्‍णु पुराण में इस बात का जिक्र मिलता है कि शंख (Conch Shell) में देवी लक्ष्‍मी (Maa Lakshmi) का वास होता है, इसलिए जगतपिता नारायण इसे धारण करते हैं। ऐसे में शंख को घर पर रखना ज्‍योतिष शास्‍त्र और वास्‍तु शास्‍त्र के आधार पर बेहद शुभ माना गया है।

जानिए घर मे शंख होने और पूजा में बजाने के इसके क्या है फायदे:-

– पुराणों में बताया गया है कि शंख में जलभर रखने और छिड़कने से वातारण शुद्ध होता है।
– माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु शंख को अपने हाथों में धारण करते हैं। ऐसे में शंख को बजाना शुभ माना जाता है।
– ऐसी मान्यता है कि शंख की पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं और नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है।
– मान्यता है कि शंख में देवताओं का वास होता है। ऐसे में जिस घर में शंख होता है, वहां मां लक्ष्मी का निवास होता है।
– वैज्ञानिक तौर पर भी शंख की आवाज़ को फ़ायदेमंद बताया गया है इससे जीवाणुओं और कीटाणुओं का नाश होता है।
– शंख की पूजा करने से इच्छा पूर्ति होती है और नुकसान पहुंचाने वाली दुष्ट प्रवृत्ति की आत्माएं आपसे दूरी बनाकर रखती हैं।
– कहते हैं कि शंख में कैल्सियम, फास्फोरस और गंधक जैसे गुणकारी तत्व पाए जाते हैं। शंख में रखे पानी का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं।
– माना जाता है कि शंख के जल से भगवान शिव और मां लक्ष्मी का अभिषेक करने से वह प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है।
– वास्तु शास्त्र के अनुसार, शंख को नियमित तौर पर बजाना सेहत के लिए लाभकारी माना गया है। मान्‍यता है कि शंख बजाने से हृदय संबंधी बीमारी होने का खतरा कम होता है।
– घर में पूजा स्थान पर शंख रखने से धन-धान्य में वृद्धि की संभावना बनती है परिवार के लोगों की आर्थिक तंगी दूर होती है। साथ ही कहते हैं कि जहां तक शंख की आवाज़ पहुँचती है वह पूरा क्षेत्र पवित्र होता जाता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending