कोरोना काल में डबल मास्क पहनना है बेहद जरूरी, जानें सर्जिकल मास्क को कई बार यूज करने का तरीका

देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बेशक थोड़ी ढीली पड़ गयी हो, लेकिन संक्रमण का खतरा अब तक भी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। इन दिनों भी रोजाना 50 हजार के करीब मामले सामने आ रहे हैं। जहां एक और टीकाकरण की रफ्तार धीमी हो गयी है तो दूसरी तरफ  कई जगहों पर कोरोना नियमों में ढील दी गई है और लोग मास्क पहनने में भी लापरवाही कर रहे हैं, जबकि लोगों को बार-बार इस बात से चेताया जा रहा है कि इन्हीं लापरवाहियों से कोरोना का नया वैरिएंट डेल्टा प्लस एक विकराल रूप धारण कर सकता है।

वहीं सरकार की और से  समय-समय पर ये जानकारी दे रही है। कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए हर किसी को मास्क पहनना सबसे ज्यादा जरूरी है। हालांकि इस दौरान ‘डबल मास्किंग’ पर काफी ज्यादा जोर दिया जा रहा है। ‘डबल मास्किंग’ का मतलब एक साथ दो मास्क पहनना होता है। लेकिन कौन से दो मास्क लगाने चाहिए इस बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है, क्योंकि बाजार में तो कई तरह के मास्क मौजूद हैं, जैसे सर्जिकल मास्क, कॉटन मास्क, एन-95 मास्क आदि। आइए जानते हैं इसके बारे में कुछ जरूरी बातें…

कोरोना काल में सबसे ज्यादा मास्क पहनने, सामजिक दूरी और बार-बार हाथ धोने की सलाह  दी जा रही है। ऐसे में कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना कई ज्यादा खतरनाक हो जानें के बाद डबल मास्क पहनने को कहा जा रहा है। ऐसे में  बीते महीने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने डबल मास्किंग का सही तरीका बताया था। इस दौरान उन्होंने बताया डबल मास्किंग के लिए पहले सर्जिकल मास्क और फिर उसके ऊपर से एक टाइट फिट कपड़े का मास्क पहनना चाहिए। मगर किसी के पास सर्जिकल मास्क नहीं है, तो वे एक साथ दो कॉटन के मास्क भी पहन सकते हैं।

सर्जिकल मास्क का दोबारा इस्तेमाल करना सही? 

सर्जिकल मास्क का दोबारा उपयोग करने को लेकर विशेषज्ञ का कहना सर्जिकल मास्क को धोकर दोबारा इस्तेमाल में नहीं लाया जा सकता, लेकिन कुछ अलग तरीकों के जरिये इसका यूज करीब पांच बार किया जा सकता है। डबल मास्किंग में इस्तेमाल करने के बाद सर्जिकल मास्क को सात दिन के लिए किसी सूखी जगह पर रखें और उसे धूप जरूर दिखाएं। सात दिन के बाद आप उसका इस्तेमाल दोबारा कर सकते हैं। 

कागज के लिफाफे में रखें

एक रिपोर्ट के मुताबिक यदि लगातार सात दिनों तक सर्जिकल मास्क को किसी पेपर में लपेट कर रख दिया जाए, तो उससे कोरोना संक्रमण का खतरा सिर्फ 0.1 फीसदी रह जाता है। ऐसे में ध्यान रहे सात दिन के बाद ही इस सर्जिकल मास्क को दोबारा यूज में लाएं। इसके अलावा ध्यान रहे अगर आपने सर्जिकल मास्क को डबल मास्किंग में इस्तेमाल न करके सिर्फ सिंगल मास्किंग के लिए इस्तेमाल किया है, तो उसको दोबारा बिलकुल यूज न करें। 

ऐसी जगहों पर डबल मास्किंग बहुत जरूरी…
-भीड़-भाड़ वाली जगह पर हमेशा डबल मास्क पहने
-अस्पताल में 
-बस या ट्रेन से यात्रा करते समय 

-ध्यान रहे उन जगहों डबल मास्किंग करें, जहां सुरक्षित शारीरिक दूरी संभव न हो 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending