चाहते हैं अगर ना हो रिटायरमेंट के बाद पैसों की कमी,  तो यहां लगाएं अपना पैसा

रिटायरमेंट के बाद जिंदगी कैसे चलेगी इसको लेकर पहले से ही सोचना काफी जरूरी होता है। हर कोई अपने भविष्य को सुरक्षित रखना चाहता हैं। ऐसे में जितनी जल्दी रिटायरमेंट के बाद के जिंदगी की प्लानिंग करना शुरू कर दिया जाए उतना ही अच्छा रहता है। रिटायरमेंट के बाद जिंदगी अच्छी तरह से जीने के लिए आर्थिक स्थिति का मजबूत होना काफी जरूरी है और अगर ऐसा नहीं होता है तो लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। रिटायरमेंट के बाद जब इनकम आनी बंद हो जाती है तो परेशानियां खड़ी होती। ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर रिटायरमेंट के बाद की प्लानिंग कैसे की जाए ? तो  इसके लिए सबसे जरूरी है इन्वेस्टमेंट। अगर आप जॉब कर रहे हैं या फिर किसी बिजनेस में है तो आपको अभी से इन्वेस्टमेंट करना शुरू करना चाहिए। निवेश करने के कई तरीके हैं।

आप चाहे तो एफडी  या इक्विटी में निवेश कर अपने भविष्य को सवर सकते हैं। कहने का अर्थ है कि आप अभी से रिटायरमेंट के बाद की जिंदगी को आर्थिक रूप से मजबूत करने की कोशिश शुरू कर दे ताकि आपको किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। फाइनेंसियल एक्सपर्ट्स की माने तो रिटायरमेंट की प्लानिंग शुरू सरकारी बचत योजनाओं में पैसा ट्रांसफर करके करना चाहिए क्योंकि सरकारी बचत योजनाओं में पैसा पूरी तरह से सुरक्षित रहता है और आपको अच्छा रिटर्न भी मिलता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही ऑप्शंस के बारे में जहां आपको अभी से पैसा निवेश करना चाहिए ताकि रिटायरमेंट के बाद आपको अच्छा रिटर्न मिले।

1. नेशनल पेंशन स्कीम – रिटायरमेंट के बाद की जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए अगर आप निवेश की तैयारी में है तो आप “नेशनल पेंशन सिस्टम” को चुन सकते हैं। दरअसल, रिटायरमेंट के लिए नेशनल पेंशन सिस्टम एक अच्छा प्लान है। इसमें रिटायरमेंट पर एकमुश्त राशि मिलने के बाद हर महीने टेंशन का भी प्रावधान है जो कि इसे अन्य निवेश ऑप्शन से अलग बनाता है। 

2. पब्लिक प्रोविडेंट फंड – रिटायरमेंट के बाद की प्लानिंग के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश करना एक बेहतर ऑप्शन है। आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड में हर वर्ष अधिकतम डेढ़ लाख रुपए जमा कर सकते हैं जहां  इस योजना की अवधि 15 साल की होती है और 15 साल बाद इसे 5 साल के लिए बढ़ाया भी जा सकता है। सबसे अच्छी बात है कि इसमें आपको 7.1% की दर से ब्याज मिलता है। इसके अलावा पब्लिक प्रोविडेंट फंड का एक फायदा ये भी है कि पीपीएफ खाते में निवेश पर इनकम टैक्स की धारा 80 सी के तहत टैक्स छूट का भी फायदा मिलता है। तो ऐसे में अगर आप रिटायरमेंट की बाद की प्लानिंग कर रहे हैं और निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपको पब्लिक प्रोविडेंट फंड में जरूर निवेश करना चाहिए ताकि अच्छा रिटर्न मिलने के साथ ही आपका पैसा सुरक्षित भी रह सके।

3. फिक्स डिपाजिट – अच्छा रिटर्न पाने के लिए आप फिक्स डिपाजिट को भी चुन सकते हैं। फिक्स्ड डिपॉजट को ओल्ड इज गोल्ड कहा जाता है क्योंकि फिक्स डिपाजिट काफी शुरू से ही अच्छा रिटर्न पाने का एक बेहतर ऑप्शन रहा हैl अगर आप अभी से एफडी करवाते हैं तो आपको अच्छा रिटर्न  मिलता ही है ।

4. म्यूचुअल फंड – रिटायरमेंट के बाद की जिंदगी को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए म्यूचुअल फंड भी एक बेहतर ऑप्शन है। अगर आप अभी से म्यूचुअल फंड में निवेश करना शुरू कर दें तो रिटायरमेंट तक आपके पास अच्छे पैसे जमा हो जाएंगे। म्यूचुअल फंड में आप सिस्टमैटिक विड्रोल प्लान को अपना सकते हैं क्योंकि इसे रिटायरमेंट बाद पैसा कमाने का अच्छा जरिया माना जाता है। आपको बता दें कि एसडब्ल्यूपी म्यूच्यूअल फंड से एक निश्चित अवधि में राशि कमाने की सुविधा देता है।

5. प्रॉपर्टी खरीदना – रिटायरमेंट के बाद की जिंदगी में पैसों की कमी ना हो, इसके लिए आप अभी से कुछ प्रॉपर्टी खरीद कर रख सकते हैं। खरीदी गई प्रॉपर्टी को लीज पर या रेंट पर देकर पैसा कमा सकते हैं। इस तरह रिटायरमेंट के बाद भी पैसों की कमी नहीं होगी और आय का एक स्रोत रिटायरमेंट के बाद भी बना रहेगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending