इंतजार खत्म!! किसानों की झोली भरने की तैयारी में मोदी सरकार, इस दिन जारी होगी 9 वी किस्त

9 अगस्त को किसानों के खाते में सम्मान निधि के तहत मोदी सरकार 19000 करोड़ रुपए भेजने वाली है। बता दें की किसान सम्मान निधि की पिछली किस्त 14 मई को दी गई थी। योजना के तहत हर साल किसानों के खाते में सरकार 6000 रुपए भेजती है। इसी की अगली किस्त 9 अगस्त को दी जाएगी। 

इससे करीब साढ़े 9 करोड़ किसानों को मदद मिलेगी। सरकार इसके लिए राज्यों से तेजी से किसानों का पंजीकरण करने को कह रही है। तमाम किसान ऐसे हैं, जिनका नाम सरकारी पोर्टल पर न चढ़ने के कारण सम्मान निधि की राशि नहीं मिल सकी है। जबकि किसान सम्मान निधि के तहत रजिस्टर्ड किसानों को अब तक मोदी सरकार 8 किस्तों में धन दे चुकी है। 

कट सकता है नाम
पीएम किसान सम्मान निधि के तहत करीब 42 लाख अपात्र लोग गलत तरीके से 2000-2000 रुपये की किस्त के रूप में 2,900 करोड़ रुपये उठा चुके हैं। ऐसे में राज्य सरकारों ने ऐसे अपात्रों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ऐसे किसानों से रकम की वसूली तो होगी ही, इस बार उनका नाम लिस्ट से कट भी सकता है। बता दें असम में पीएम किसान के अपात्रों से 554 करोड़, उत्तर प्रदेश से 258 करोड़, बिहार से 425 करोड़ और पंजाब से 437 करोड़ रुपये की वसूली होगी।

इन बातों का रखें ध्यान
• पीएम किसान योजना के तहत सभी आवेदकों का अपना नाम अंग्रेजी में दर्ज करना चाहिए। अगर आवेदन में आपने अपना नाम हिंदी में दर्ज किया है, तो कृपया उसे संशोधित कर लें।

• पीएम किसान योजना में और बैंक खाते में आवेदक का नाम अलग-अलग नहीं होना चाहिए, अन्यथा आपकी किस्त अटक सकती है।

• पीएम किसान योजना के तहत रजिस्टर्ड किसान चेक चेक कर लें कि कहीं आधार कार्ड में आपका नाम सही है अथवा नहीं।

• किसान पीएम किसान योजना के लिए आवेदन करते समय होने बैंक का IFSC कोड बड़ी ही सावधानी से दर्ज करें, IFSC कोड गलत होने पर आपकी किस्त अटक सकती है।

• अगर आपने आवेदन करते समय उपरोक्त में से कोई भी गलती की है, तो आपकी किस्त अटक सकती है।

• आप इन गलतियों को पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाकर ऑनलाइन ठीक कर सकते हैं।
• आप कृषि विभाग के कार्यालय में जाकर भी अपने आवेदन में हुई गलतियों को ठीक करा सकते हैं।

किन लोगों को नहीं मिलता है फायदा
बता दें सरकारी कर्मचारी या इनकम टैक्स देने वाले किसानों को इसका पात्र नहीं माना गया है। इसके अलावा डॉक्टर, इंजीनियर, सीए और 10 हजार रुपये से अधिक पेंशन पाने वाले कर्मचारी भी इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं।

ऐसे चेक करें लिस्ट में अपना नाम
पहले पीएम किसान (PM Kisan) की वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं। यहां आपको राइट साइड पर ‘Farmers Corner’ का विकल्प मिलेगा। यहां ‘Beneficiary Status’ के ऑप्शन पर क्लिक करें। फिर आपको ड्रॉप डाउन लिस्ट से राज्य, जिला, उप जिला, ब्लॉक और गांव को सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद अपको Get Report पर क्लिक करना होगा। इसके बाद लाभार्थियों की पूरी लिस्ट सामने आ जाएगी, जिसमें आप अपना नाम चेक कर सकते हैं।

इन नंबरों पर करें शिकायत
एक हेल्पलाइन नंबर है जिसके जरिए देश के किसी भी हिस्से का किसान सीधे कृषि मंत्रालय से संपर्क कर सकता है>> पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266>> पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261>> पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401>> पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606>> पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109>> ई-मेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending