सतर्कता ही कोरोना का इलाज

कोरोना की दवा तो आ चुकी है पर ये जड़ से कैसे समाप्त होगा बड़ा सवाल ये है. कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि चिंता का विषय है और ये बला पुरी दुनिया से कब जाएगी फिलहाल इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता. भारत में कोरोना पिछले साल की तरह फिर से गति पकड़ रहा है.

पिछले 24 घंटे में कोरोना के 53 हजार से ज्यादा मामले देश में सामने आए है जिसने पिछले कई महीनों का रिकार्ड तोड़ दिया है. सवाल ये भी अहम है कि आखिर गलती कहां हो रही है और कोरोना फिर से अपने पुराने रंग में क्यों लौटने लगा है ?

कोरोना के मामलों में फिर से वृद्धि पर एक कहावत फिट बैठती है सावधानी हटी दुर्घटना घटी. कोरोना के बढ़ते मामलों में शायद यही हो रहा है. सतर्कता और सावधानी की कमी इस समय न हो तो ही बेहतर है. कोरोना के बढ़ते मामले फिर से कई परेशानियों को जन्म दे सकते है.

पिछले साल हमने देखा था कि किस तरह लॉकडाउन में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा था. हमे पिछले एक साल ने काफी कुछ सिखाया है और अभी कोरोना के प्रति ढिलाई का समय नहीं है.  

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending