सदन में विपक्षी सांसदों के हंगामें के बीच भावुक हुए वेंकैया नायडू बोले- आज राज्यसभा की पवित्रता खत्म हो गई

बुधवार को सदन की करवाही के दौरान भावुक दिखे सभापति वेंकैया नायडू बोले, राज्यसभा की सारी पवित्रता खत्म हो चुकी है। उन्होंने कहा कि सदन में हंगामा करने वाले विपक्षी सांसदों को कार्रवाई का सामना करना होगा। बता दें मंगलवार को राज्यसभा में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कृषि कानूनों और पेगासस जासूसी विवाद जैसे मुद्दों को लेकर विपक्षी सांसद हंगामे के साथ साथ मारपीट पर भी आमादा हो गए थे।

सभापति वेंकैया नायडू भी मगंलवार सदन की कार्यवाही के दौरान उस समय भावुक हो गए जब कृषि कानूनों का विरोध करते हुए कुछ सांसद मेज पर बैठ गए और अन्य सदस्य सदन की मेज पर चढ़ गए थे। पूरी घटना पर बुधवार दोपहर राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि मैं इस बात से बेहद दुखी हूं कि कुछ सदस्यों ने मॉनसून सेशन में बुरी तरह उपद्रव किया है।

उन्होंने कहा कि आपकी ओर से किसी भी मसले पर बहस की जा सकती है और राय अलग-अलग हो सकती है, लेकिन जिस तरह से उपद्रव किया गया था, वह दुख पहुंचाने वाला है। वेंकैया नायडू ने बुधवार को सदन में विपक्ष के बर्ताव की निंदा करते हुए कहा कि कल संसद में जो हुआ, उससे मैं बहुत दुखी हूं। कल जब कुछ सदस्य टेबल पर आए, तो सदन की गरिमा को चोट पहुंची और इसकी वजह से मैं पूरा रात नहीं सो पाया।

जानकारी के मुताबिक, राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू कल के हंगामे को लेकर विपक्षी सांसदों के खिलाफ एक्शन ले सकते हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, सदन के नेता पीयूष गोयल और अन्य भाजपा सांसदों ने आज सुबह नायडू से मुलाकात की है। बता दें कि मंगलवार को राज्यसभा में हंगामे की हद उस वक्त पार हो गई, जब कांग्रेस के एक सांसद ने मेज पर चढ़कर आसन की ओर रूल बुक फेंक दी। इस तरह से पांच बार बाधित होने के बाद राज्यसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी थी। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending