वाराणसी : ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे मामले पर मंगलवार को सुनवाई कर सकता है सुप्रीम कोर्ट

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के दौरान शिवलिंग पाए जाने के दावे के बाद इसको लेकर चर्चाओं का दौर जारी है। एक और जहां हिंदू पक्ष ने सर्वे के अंतिम दिन मस्जिद में मौजूद तालाब रूपी कुएं में शिवलिंग होने का दावा किया है तो वहीं मुस्लिम पक्ष की तरफ से दावा किया गया है कि सर्वे में कोई शिवलिंग नहीं मिला है। इससे पहले हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने बताया था कि कुएं के अंदर सर्वे के दौरान शिवलिंग मिला है। उन्होंने कहा था कि अब वे शिवलिंग की  प्रोटेक्शन के लिए सिविल कोर्ट का रुख करेंगे।

हिंदू पक्ष द्वारा वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद हिंदू पक्षकार सोहनलाल ने भी मीडिया से बातचीत के दौरान बताया था कि अब पश्चिमी दीवार के पास जो मालवा है उसकी जांच की मांग उठाई जाएगी। हिंदू पक्षकारों का दावा है कि ज्ञानवापी मस्जिद के वजू खाने या तालाब में 12 फीट 8 इंच व्यास का शिवलिंग मिला है जो कि अंदर काफी गहरा हो सकता है। बताया जा रहा है कि इस शिवलिंग का मुंह नदी की तरह है और वजू खाने का पूरा पानी निकल कर इसे देखा गया था। बता देखी ज्ञानवापी मस्जिद का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है जहां मंगलवार को इस मुद्दे पर सुनवाई की जा सकती है।

वही मस्जिद की कमेटी ने सर्वे और कोर्ट कमिश्नर की नियुक्ति पर सवाल खड़े किए हैं। आपको बता दें कि वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर कोर्ट ने 12 मई को बड़ा फैसला सुनाते हुए मस्जिद के सर्वे के लिए नियुक्त किए गए एडवोकेट कमिश्नर अजय मिश्रा को हटाए जाने से इंकार कर दिया था। हालांकि कोर्ट द्वारा कमिश्नर अजय मिश्रा के अलावा विशाल कुमार सिंह को भी कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया गया था। आपको बता दे की  कोर्ट ने 17 मई तक सर्वे की कार्रवाई पूरी करके रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा था। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending