उत्तराखंड: खत्म होगा हरिद्वार कुंभ मेला, आज शाम सीएम कर सकते है ऐलान

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलो के बीच मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ले सकते है बड़ा फैसला, आज शाम बैठक के बाद करेंगे ऐलान. सूत्रों की खबरों के अनुसार हरिद्वार में चल रहें कुंभ मेले पर राज्य सरकार लगा सकती है रोक, कर सकती है समाप्ति की घोषणा.
ज्ञात हो कि सरकार की ओर से हरिद्वार में लगने वाले कुंभ के मेले की अवधि 1 से 30 अप्रैल तक की तय की गई थी. अब आए दिन बढ़ रहे कोरोना के मामलो को देखते हुए सरकार ने इस पर चिंता जाहिर की है और शुक्रवार शाम बैठक बुलाई है जिसमे वर्तमान स्थिति को देखते हुए विचारविमर्श कर कोई ठोस कदम उठाया जा सकता है. इससे पहले निरंजन अखाड़े ने भी फैसला लेते हुए 17 अप्रैल को ही कुंभ समाप्ति की घोषणा की है.
हालांकि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत शुक्रवार को कोरोना पर अब तक की स्थिति की समीक्षा करेंगे और बैठक में वर्तमान हालात पर मंथन करते हुए आगे की रणनीति तय करेंगे. जानकारी के अनुसार सीएम ने कोरोना प्रबंधन से संबंधित सभी विभागों की बैठक भी बुलाई है. 

बता दें कि हरिद्वार में हो रहे कुंभ के दौरान कोरोना केसों बहुत तेजी से बढ़ोतरी हो रही है कुंभ में शामिल हुए साधुओं की कोरोना जांच की गई चिंता की बात है कि 30 साधुओं की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. साधुओं की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीमें अखाड़ों में जाकर साधुओं की कोरोना कर रही है.इसके साथ ही हरिद्वार के जिन भी लोग साधु, संत, महंत की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं उन्हें होम क्वारंटाइन किया गया है जबकि बाहरी लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. गंभीर लक्षण वाले मरीजों को एम्स ऋषिकेश के लिए रेफर किया गया है.

इससे पहले अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की कोरोना पॉजिटिव आई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. स्वास्थ्य विभाग की ओर से 200 के करीब साधुओं की कोरोना रिपोर्ट जांच को भेजी है.

उत्तराखंड में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे है लगातार. राज्य में कुल मरीजों की संख्या एक लाख 16 हजार के पार पहुंच गई है. जिसमें से 99700 ठीक हो चुके हैं. जबकि 12 हजार से अधिक एक्टिव मरीजों का अस्पतालों व होम आइसोलेशन में इलाज चल रहा है. 
गौरतलब है कि राज्य में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कुल 67 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. जिसमें से 33 अकेले देहरादून जिले में हैं. जबकि नैनीताल में 27 और हरिद्वार में छह और पौड़ी में एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया है. उत्तराखंड में रिकवरी रेट एक ही दिन में तकरीबन दो प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending