Uric Acid : पीपल के छाल से बना काढ़ा जोड़ों के दर्द को कर सकता है दूर, जानिए इसे बनाने की विधि

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमें अपने सेहत का ख्याल रखना काफी जरूरी है। अगर स्वास्थ्य सही नहीं होगा तो जीवन भी कष्टों से घिर जाता है। हम हमेशा से ये सुनते आए हैं कि “हेल्थ इज वेल्थथ” कहने का अर्थ है कि “स्वास्थ्य ही धन है” और बिल्कुल यह बात सही भी है। 

स्वस्थ जीवन के लिए शरीर की हड्डियों का मजबूत होना काफी जरूरी होता है। लेकिन आजकल बड़ी संख्या में लोग हड्डियां कमजोर होने की समस्या से ग्रसित है। हड्डियां कमजोर होने का एक कारण ये है कि आप अपनी डाइट में कैल्शियम की मात्रा कम ले रहे हैं। 

वहीं एक दूसरा कारण जोड़ों में दर्द का ये हो सकता है कि आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा काफी ज्यादा बढ़ गई हो। अक्सर जब लोगों को जोड़ो में दर्द होता है या फिर कमर पीठ या पैरों में असहनीय दर्द होता है तो टेस्ट रिपोर्ट में अक्सर यह पाया जाता है कि पेशेंट के शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा काफी बढ़ गई है। 

यूरिक एसिड को कम करने के लिए वैसे तो बाजार में कई प्रकार की दवाएं मौजूद है। लेकिन इसका इलाज प्राकृतिक रूप से ज्यादा अच्छा होता है। पीपल के पेड़ का छाल इस दिशा में आपकी मदद कर सकता है। इसके लिए आपको पीपल की छाल से बने काढ़े का सेवन करना होगा जिसके बारे में आज हम आपको बताएंगे तो आइए जानते हैं। 

इस प्रकार बनाएं पीपल के छाल का काढ़ा 

पीपल के छाल का काढ़ा बनाने के लिए आपको जरूरत होगी लगभग 250 मिलीलीटर पानी और इसमें 10 ग्राम पीपल की छाल को मिलाकर इसे धीमी आंच पर उबलने की। इसे तब तक उबालें जब तक ये आधा ना हो जाए। इसके बाद जब ये  आधा हो जाए तो इसे दो ग्लास में छानकर अलग – अलग कर लें और इसका सेवन 1 दिन में दो बार करें। ऐसा करने से आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम हो जाएगी और शरीर के जोड़ों में दर्द, कमर दर्द, सिर दर्द या फिर शरीर के अन्य किसी भाग में जो हमेशा दर्द रहता है वो दूर हो जाएगा। 

इसके अलावा अगर आप चाहें तो पान के पत्ते का भी सेवन कर सकते हैं क्योंकि इससे भी यूरिक एसिड नियंत्रित रहता है। साथ ही करी पत्ता जो की अक्सर दक्षिण भारतीय भोजन में प्रयोग किया जाता है, इसका सेवन भी शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने का कार्य करता है। गौरतलब है कि यूरिक एसिड की मात्रा शरीर में बढ़ने से शरीर के कई भागों में असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। यूरिक एसिड से परेशान लोगों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना होता है। उन्हें वैसे भोजन का सेवन न करने की सलाह दी जाती है जो यूरिक एसिड को बढ़ाने का कार्य करते हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending