केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कृषि-खाद्य जैव प्रौद्योगिकी संस्थान में उन्नत 650 टेराफ्लॉप्स सुपरकंप्यूटिंग का किया उद्घाटन

नई दिल्ली, 03 नवंबर (विज्ञान एवम प्रौद्योगिकी मंत्रालय): केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगकी राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने राष्ट्रीय कृषि-खाद्य जैव प्रौद्योगिकी संस्थान (एनएबीआई) में उन्नत 650 टेराफ्लॉप्स सुपरकंप्यूटिंग सुविधा का उद्घाटन करते हुए घोषणा की कि सरकार भारत की आजादी के 75वें वर्ष में 75 अभिनव स्टार्ट-अप्स की पहचान करेगी और उन्हें बढ़ावा देगी। उन्होंने कहा कि अगले 25 वर्षों में देश का नेतृत्व करने के लिए 75 सर्वश्रेष्ठ चुने गए स्टार्ट-अप्स भारत की स्वतंत्रता की शताब्दी के समारोह के दौरान देश की संपत्ति होंगे।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि, ” यह सुविधा पुणे स्थित सी-डैक की सहभागिता से राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (एनएसएम) के तहत प्राप्त हुई है। यह उच्च स्तरीय सुविधा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त विभिन्न संस्थानों और विश्वविद्यालयों में किए जा रहे बड़े पैमाने पर जीनोमिक्स, कार्यात्मक जीनोमिक्स, संरचनात्मक जीनोमिक्स और जनसंख्या अध्ययन से प्राप्त होने वाले बिग डेटा के विश्लेषण के लिए वरदान साबित होगी।”

उन्होंने आगे कहा कि यह कृषि व पोषण जैव प्रौद्योगिकी से संबंधित संस्थान में किए जा रहे अंतर्विषयक अत्याधुनिक अनुसंधान की जरूरतों को पूरा करने में अनोखी होगी। उन्होंने आगे बताया कि यह एनएबीआई और नवोन्मेषी एवं अनुप्रयुक्त जैव-प्रसंस्करण केंद्र (सीआईएबी) के वैज्ञानिकों के लिए भी उपलब्ध होगा। इसके अलावा संस्थानों/विश्वविद्यालयों में काम करने वाले वैज्ञानिकों/शिक्षकों व एनएसएम के तहत स्वीकृत परियोजनाओं के सहयोगपूर्ण काम के लिए भी खुला रहेगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending