महराष्ट्र में फिर से लॉकडाउन लगाने पर मजबूर न हो जाए उद्धव सरकार

महराष्ट्र में फिर से बढ़ते कोरोना के मामले अब राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार की चिंता बढ़ाने लगे है. कोरोना महामारी को दस्तक दिए अब एक साल हो गया है और देश में कोरोन के सबसे ज्यादा मामले अब तक महराष्ट्र से ही सामने आए है. देश सहित महराष्ट्र में कोरोना के मामलों में बीच में कमी जरूर आई पर महराष्ट्र सहित देश के अन्य राज्यों में कोरोना फिर सर उठाने लगा है. कोरोना के बढ़ते मामले से ये सवाल भी पैदा हो गया है कि  क्या महराष्ट्र में फिर से लॉकडाउन लग जाएगा ?

दरअसल,  महराष्ट्र में मार्च के पहले हफ्ते में कोरोना के 50 हजार से अधिक मामलों का सामने आना फिर से डर पैदा कर रहा है. महाराष्ट्र के दो जिलों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पहले ही लॉकडाउन लगाया जा चुका है. हालांकि महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे फिर से लॉकडाउन लगाने के पक्ष में नहीं है पर उन्होंने ये जरूर कहा है कि मजबूरी भी कोई चीज होती है. ये बयान उद्धव ठाकरे ने पिछले महीने 28 फरवरी को ही दिया था. लेकिन इसके बाद से महराष्ट्र में कोरोना के मामले जिस तरह बढ़ रहे है उससे ऐसा लगता है कि सरकार फिर से राज्य के कई जिलों में कोरोना के बढ़ते मामले के मद्देनजर लॉकडाउन लगाने पर मजबूर हो सकती है.

महराष्ट्र में कोरोना का फिर से बढ़ता ग्राफ इशारा भी इस और कर रहा है पर सरकार की कोशिश कोरोना के मामलों को कंट्रोल कर इस परेशानी से बचना है. महराष्ट्र हो या फिर देश का अन्य कोई राज्य अब कहीं पे भी लॉकडाउन लगना सही नहीं होगा क्योकि देश की अर्थव्यवस्था जो किसी तरह अब पटरी पर लौट रही है वो फिर से लॉकडाउन लगने से बेपटरी हो सकती है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending