होटल मैनेजमेंट में आजमाएं अपना भविष्य, मिलेंगे ढेरों स्कोप, जानिए कोर्स से लेकर जॉब तक की सभी जानकारियां

आज हम उन लोगो के लिए यह रिपोर्ट लेकर आए है जो बारहवीं की बाद होटल मैनेजमेंट में अपना करियर बनाना चाहते है। हमारी लगातार कोशिश जारी है आपको सही राह दिखाने की जिससे की आप अपने लिए सही फैसला ले सके। क्या आप भी होटल, रेस्टोरेंट मैनेजमेंट में अपना करियर बनाना चाहते है??? क्या आप भी नई नई लोगो से मिलने के इच्छुक है???क्या आपको भी कई भाषाओं को ज्ञान है???क्या आप भी घूमने के शौकीन है?? अगर इन सभी सवालों का जवाब हां है तो आप बेफिक्र होकर होटल मैनेजमेंट की ओर अपना कदम बढ़ा सकते है। यह आपके लिए बेहद सटीक बैठता है। आगे बढ़ने से पहले आइए जानते है की आखिर क्या है होटल मैनेजमेंट।

होटल मैनेजमेंट

किसी भी होटल या होटल से जुड़े किसी भी कार्य को बख़ूबी संचालित करना ही होटल मैनेजमेंट हैं| इसके अंन्तर्गत वे सारे काम आते हैं जिससे किसी होटल को व्यस्थित रूप से चलाया जाएं। जैसे होटल में आए ग्राहकों को दी जाने वाली सुविधा, होटल परिसर की देख-रेख, साफ़ सफाई, यात्रिओं के आवागमन की सुविधा, स्वादिस्ट और पोष्टिक भोजन की व्यवस्था आदि। होटल मैनेजमेंट कोर्स के अंतर्गत छात्रों को यही सब सिखाया जाता हैं कि कैसे एक होटल या होटल से जुड़े अन्य बिज़नस को सुचारू रूप से चलाया जाये। तो आइए जानते है इस फिल्ड में आगे कैसे बढ़े , अगर आपने भी बारहवीं पास कर ली है या करने वाले है तो आइए जानते है इससे जुड़े कोर्स, योग्यता, सैलरी, और स्कोप।

शैक्षिक योग्यता

होटल मैनेजमेंट के डिग्री या डिप्लोमा कोर्स को चुनने के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल या संस्थान से कक्षा 10+2 उत्तीर्ण है। होटल प्रबंधन के किसी भी विशिष्ट क्षेत्र में विशेषज्ञता के लिए आप 12 वीं कक्षा पास करने के बाद सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं। स्नातकोत्तर का चयन करने के लिए, आपको किसी भी मान्यता प्राप्त होटल प्रबंधन विश्वविद्यालय (Hotel Management Universities) से स्नातक होना जरूरी है। होटल प्रबंधन पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति में विवादों और आलोचनाओं को धैर्य से संभालने की क्षमता होनी जरूरी है। उम्मीदवार को अतिथि के प्रति हर स्थिति में विनम्र और सहयोगी होना जरूरी है।

होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा

होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा एक 1 वर्ष का कोर्स है। होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा करने के लिए उम्मीदवार के पास 10 वीं तथा 12 वी क्लास में काम से काम एग्रीगेट 50 परसेंट मार्क्स होना जरुरी है।विभिन्न विषयों में होटल मैनेजमेंट डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है-

• डिप्लोमा इन फूड एंड विवरेज सर्विसेज

• डिप्लोमा इन फ्रंट ऑफिस

• डिप्लोमा इन फूड प्रोडक्शन

• डिप्लोमा इन बेकरी एंड कन्फेक्शनरी

• डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग

होटल मैनेजमेंट में अंडर ग्रेजुएशन कोर्सेज

होटल मैनेजमेंट में अंडर ग्रेजुएशन कोर्सेज की अवधि 3 वर्ष की है। इस कोर्स को पूरा करने पर होटल मैनेजमेंट की डिग्री से सम्मानित किया जाता है। इस डिग्री की व्यापर जगत में बहुत मान्यता है। होटल मैनेजमेंट में अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम करने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या यूनिवर्सिटी से 10 + 2 का परीक्षा 50 प्रतिशत न्यूनतम मार्क्स के साथ पास होना चाहिए। निम्नांकित विषयों में होटल मैनेजमेंट के अंडर ग्रेजुएशन कोर्सेज-

• बैचलर ऑफ होस्पिटलिटी मैनेजमेंट

• बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट [बीएचएम]

• बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट इन फूड एंड विवरेज

• होटल मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज

होटल मैनेजमेंट में अंडर ग्रेजुएट्स प्रोग्राम के बाद पोस्ट ग्रेजुएट्स कोर्स किया जाता है

होटल मैनेजमेंट के पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम

पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज के लिए उम्मीदवार के पास किसी भी स्पेशलाइजेशन में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए। निम्नांकित विषयों में होटल मैनेजमेंट के पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज-

• मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन इन होस्पिटलिटी मैनेजमेंट

• मास्टर ऑफ होटल मैनेजमेंट

• मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन इन होटल मैनेजमेंट

• पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री / डिप्लोमा 2 साल की अवधि के लिए आयोजित किया जाता है।

होटल मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

– इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग एंड न्यूट्रिशंस, पूसा

– वेलकमग्रुप ग्रेजुएट स्कूल ऑफ होटल एडमिनिस्ट्रेशन, मणिपाल

– एआईएचएमसीटी, बेंगलुरु

– बनारसीदास चांदीवाला इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, दिल्ली

– दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली

होटल प्रबंधन पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षाएं

नेशनल लेवल एंट्रेंस-

एनसीएचएम जेईई

एआईएमए यूजीएटी AIMA UGAT

स्टेट लेवल एंट्रेंस-

यूपीएसईई बीएचएमसीटी (उत्तर प्रदेश)

एमएएच सीईटी एचएम (महाराष्ट्र)

डब्ल्यूबीजेईई एचएम (पश्चिम बंगाल)

यूनिवर्सिटी लेवल एंट्रेंस-

पीयूटीएचएटी (पंजाब विश्वविद्यालय)

सीयूईटी (क्राइस्ट यूनिवर्सिटी)

आईपीयू सीईटी (गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय)

होटल प्रबंधन पाठ्यक्रम

होटल प्रबंधन पाठ्यक्रम आपको होटल या हॉस्पिटैलिटी सर्विस के विभिन्न पहलुओं जैसे सेल्स एंड मार्केटिंग, फूड एंड बेवरेज, फ्रंट ऑफिस, अकाउंटिंग, फूड प्रोडक्शन, हाउसकीपिंग और कई किचन स्किल को कवर करने में मदद करेगा। भारत में कई सरकारी और निजी कॉलेज होटल मैनेजमेंट में डिग्री और डिप्लोमा कोर्स कराते हैं, जो बहुत सारे छात्रों के लिए एक आकर्षक और रोमांचक पाठ्यक्रम बन गया है।

होटल इंडस्ट्री के अंतर्गत मिलने वाले मुख्य जॉब

डायरेक्टर ऑफ होटल ऑपरेशन

मैनेजर ऑफ होटल

सेफ

फ्लोर सुपरवाइजर

हाउस कीपिंग मैनेजर

गेस्ट सर्विस सुपरवाइजर

वेडिंग कोओर्डीनेटर

रेस्टोरेंट एंड फूड सर्विस मैनेजर

फूड एंड विबरेज मैनेजर

फ्रंट ऑफिस मैनेजर

इवेंट मैनेजर

किचेन मैनेजर

सैलरी

स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद नौकरी का विकल्प चुनने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए ट्रेनिंग के दौरान प्रारंभिक वेतन 10,000- 13,000 रुपए के बीच होता है। इसके बाद आपके प्रदर्शन के अनुसार वेतन में वृद्धि होना तय है।

होटल मैनेजमेंट इंडस्ट्री में देश के कुछ बड़े होटल्स –

ताज ग्रुप ऑफ होटल्स

ओबेरॉय ग्रुप ऑफ होटल्स

ले मेरिडियन ग्रुप ऑफ होटल्स इन इंडिया

होटलों का स्वागत समूह

मैरियट इंटरनेशनल होटल

हयात कॉर्पोरेशन ऑफ होटल्स इन इंडिया

आईटीसी लिमिटेड – होटल डिवीजन

रैडिसन ब्लू होटल

रमाडा होटल ग्रुप

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending