Tokyo Olympics: सेमीफ़ाइनल में पहुंची पीवी सिंधु… रचा इतिहास

टोक्यो ओलंपिक की महिला एकल बैडमिंटन स्पर्धा के सेमीफाइनल में पीवी सिंधु पहुंच गईं हैं। कांटे की टक्कर में सिंधु ने जापानी स्टार अकाने यामागुची को 21-13, 22-20 से मात दी। इससे पहले पीवी सिंधु ने एकतरफा प्री-क्वॉर्टर फाइनल मुकाबले में डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट को सीधे गेम में हराकर उन्होंने अंतिम आठ में जगह बनाई थी। पीवी सिंधु ने बेहतरीन खेल खेलते हुए दूसरा सेट भी अपने नाम किया। 

इस जीत के साथ भारतीय खिलाड़ी सिंधु सेमीफाइनल में पहुंच गई। सिंधु इकलौती भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है। टोक्यो जाने से पहले एक इंटरव्यू में सिंधु ने कहा था कि भारत सरकार की ओर से दिए गए सम्मान और पुरस्कारों को उन्हें सार्थक करना है।

पीवी सिंधु का इतिहास 
5 जुलाई 1995 को आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद में जन्मी पीवी सिंधु के माता-पिता राष्ट्रीय स्तर के वॉलीबॉल खिलाड़ी थे। उनके पिता पीवी रमाना 1986 के सियोल एशियाई खेलों में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम करने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। सिंधु, पुलेला गोपीचंद के प्रदर्शन से प्रभावित थीं जिन्हें देखकर ही उन्होंने 9 साल की उम्र से ही गोपीचंद की एकेडमी में प्रैक्टिस शुरू की थी।

करियर की शुरुआत में ही सिंधु ने ऑल इंडिया रैंकिंग चैंपियनशिप और सब-जूनियर नेशनल चैंपियनशिप में खिताब जीतकर अपनी प्रतिभा लोगों को दिखा दी थी। सिंधु ने साल 2009 में सब-जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया और एक साल बाद ईरान में अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन चैलेंज में सिल्वर मेडल जीता। इसके बाद साल 2012 में उन्होंने एशियन जूनियर चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता कर अपने साथ ही परिवार और देश का नाम रोशन किया था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending