नवरात्रि का आज अंतिम दिन, मां सिद्धिदात्री की पूजा करने से होगी मोक्ष की प्राप्ति

आज नवरात्रि का नौवां और अंतिम दिन है। नवरात्रि के नौवें दिन शक्ति देवी मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। मान्यता है कि मां सिद्धिदात्री की पूजा करने से जीवन के हर काल कष्ट दूर होते हैं एवं मोक्ष की प्राप्ति होती है। मां सिद्धिदात्री को मोक्ष प्रदान करने वाली देवी भी कहा जाता है। दुर्गा का नौवां रूप मां सिद्धिदात्री बहुत शक्तिशाली है। धार्मिक शास्त्रों और पुराणों के मुताबिक देवी, देवता, गंधर्व और मनुष्य सभी को इन्हीं के आशीर्वाद से सिद्धियां मिलती हैं। देवी पुराण के अनुसार मां सिद्धिदात्री की अनुकंपा से ही भगवान शंकर का आधा शरीर देवी का हुआ था उस समय से ही भगवान शिव को अर्धनारेश्वर कहा जाने लगा। 

आज नवमी का दिन है और आज के दिन लोग पूरी श्रद्धा से मां सिद्धिदात्री की पूजा कर रहे हैं। आज नवमी का दिन है और कल दशहरा है। दशहरा और नवमी दोनों को लेकर ही देश में काफी उत्साह का माहौल देखा जा रहा है। लोग एक दूसरे से खुशियां बांटते नजर आ रहे हैं। माता दुर्गा का नौवां रूप मां सिद्धिदात्री की पूजा करने से यश, बल और धन की प्राप्ति होती है बात अगर मां सिद्धिदात्री की करें तो मां सिद्धिदात्री कमल पर विराजमान रहती हैं और मां सिद्धिदात्री मां  सरस्वती का स्वरूप है। मां सिद्धिदात्री भक्तों को रोग, भय और शोक आदि से मुक्त करती हैं। नवमी के दिन दुर्गा चालीसा दुर्गा सप्तशती का पाठ जरूर करना चाहिए। 

इसके साथ ही महानवमी के दिन कन्या पूजन और हवन का भी विधान है। कई लोग अष्टमी के दिन ही कन्या पूजन का कार्यक्रम रखते हैं तो वहीं कई लोग नवमी को मानते हैं और नवमी के दिन कन्या पूजन करते हैं। नवरात्रि के अंतिम दिन मां सिद्धिदात्री की श्रद्धा पूर्वक पूजा करने से जीवन के सभी कष्ट दूर होते हैं और माता वैष्णो अपने भक्तों पर कृपा बरसाती हैं।

ACNPEu8CrPKnWxScJDj1aXwoPNPbneLF6ocOFUHJkOe6=s40 pReplyForward

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending