TMC नेता सुजाता खान ने अनुसूचित जाति वालों को कहा भिखारी, चुनाव आयोग दिया नोटिस, 24 घंटे में देना होगा जवाब

तृणमूल कांग्रेस की नेता सुजाता खान ने अनुसूचित जाति वालों को बताया भिखारी कहा, चंद मिनटों के लिए भागते है बीजेपी के पीछे पीछे जिसके बाद बीजेपी ने सुजाता के इस बयान का भारी विरोध कियाऔर चुनाव आयोग से इस पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की. साथ ही टीएमसी की मान्यता रद्द करने की भी मांग की.
बता दें कि चुनाव आयोग ने तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की नेता सुजाता मंडल खान को अनुसूचित जाति के खिलाफ विवादित बयान को लेकर 24 घंटे का नोटिस जारी किया है. जिसमें उन्हें 24 के अंदर अंदर अपने इस विवादित बयान की सफाई देनी होगी. ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
जानकारी के अनुसार तृणमूल कांग्रेस नेता सुजाता खान से टीएमसी के स्टार प्रचारक का दर्जा भी छीना जा सकता है. चुनाव आयोग के नोटिस में साफ कहा गया है कि उन्हें यह भी बताना चाहिए कि उनसे ‘स्टार प्रचारक’ का दर्जा वापस क्यों नहीं लिया जाना चाहिए.

निजी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान सुजाता खान ने कहा था, “एक कहावत है कि कुछ स्वभाव से भिखारी होते हैं तो कुछ परिस्थितियों के कारण. अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं।”

चुनाव आयोग से इसकी शिकायत मुख्तार अब्बास नकवी की अगुवाई वाले भाजपा के प्रतिनिधि दल की ओर से की गई थी. केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी इस मामले में चुनाव आयोग से पिछले दिनों मिले थे. उन्होंने पूरे मामले की शिकायत करने के साथ ही कहा कि राज्य में चुनाव के दौरान इस तरह की बयानबाजी कर आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है.

चुनाव आयोग में अपनी शिकायत दर्ज करवाने के बाद बीजेपी नेता दुष्यंत गौतम ने कहा था कि, “पीएम नरेंद्र मोदी ने जितनी भी योजना लागू की उसमें कोई भेदभाव नहीं किया गया. कांग्रेस और टीएमसी का मानना है कि संसाधनों पर अल्पसंख्यकों का हक है. बीजेपी के साथ दलित वर्ग जुट रहा है. हम चुनाव आयोग से टीएमसी पर कार्रवाई की माँग करते है. टीएमसी की मान्यता भी रद्द होनी चाहिए.”

ज्ञात हो कि पिछले दिनों एक निजी टीवी चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में आरामबाग विधानसभा सीट से टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ने बयान दिया था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं. ममता बनर्जी ने उनके लिए इतना कुछ किया, लेकिन फिर भी चंद पैसों के लिए वो बीजेपी के पीछे-पीछे हो रहे हैं. वो बीजेपी को अपना वोट बेच रहे हैं. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending