सरकार में बहुत घमंड होता है, उन्हें लगता है कि सारी जानकारी मेरे पास ही है, इसलिए लोगों से सलाह मशविरा नहीं करते: नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को कंसल्ट ऐप लॉन्च किया। इस ऐप पर 65 क्षेत्रों के देश के 380 एक्सपर्ट्स जुड़े हैं। एप के माध्यम से स्वास्थ्य, सुरक्षा, कृषि, पर्यावरण, विदेश मामले, कश्मीर मामले, रेलवे, आर्थिक, महिला सशक्तिकरण, धर्म-अध्यात्म समेत 65 विषयों पर जानकारी सीधे एक्सपर्ट्स से ली जा सकती है। हालांकि बात करने पर शुरू के 1 मिनट फ्री होंगे और उसके बाद कुछ चार्ज देना पड़ेगा जो एक्सपर्ट्स के खाते में जाएगा। इस एप को पूर्व आईएएस अफसर राघव चन्द्रा ने बनाया है। 

वहीं एप की लॉन्चिंग के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सरकार और ब्यूरोक्रेसी पर एक बार फिर बेबाक टिप्पणी करते हुए कहा कि, “सरकार में बड़े स्तर पर ईगो (अहंकार) होता है। उन्हें लगता है कि सारी जानकारी मेरे पास ही है, इसलिए लोगों से सलाह मशविरा नहीं करते। अच्छे आदमी को निंदा करने वाले व्यक्ति को हमेशा साथ रखना चाहिए।” गडकरी ने आगे कहा कि समय पर फैसले नहीं लिए जाने की वजह से सरकारी प्रोजेक्ट में देरी होती है।

उन्होंने कहा कि निर्णय क्या करते हैं, यह समस्या नहीं है, समस्या यह है कि निर्णय नहीं करते। जॉइंट सेक्रेटरी की गलती को सेक्रेटरी संभालता है, सेक्रेटरी की गलती को मंत्री। लेकिन मैं पारदर्शी हूं, जिम्मेदारी तय करने में विश्वास करता हूं। वहीं जमीन अधिग्रहण के मुद्दे पर गडकरी ने कहा कि, “अब जमीन अधिग्रहण के लिए अधिक पैसे दिए जाते हैं। इस वजह से लोग अब यह कहने नहीं आते कि मेरी जमीन मत लो। लोग अब यह कहने आते हैं कि मेरी जमीन भी लो।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending