पाकिस्तानी हिंदू महिला शरणार्थियों की स्थिति जानने पहुंची दिल्ली महिला आयोग की टीम, जानिए आयोग ने क्या कहा ?

दिल्ली के मजनू का टीला क्षेत्र में रह रही पाकिस्तानी हिंदू महिला शरणार्थियों की दशा का अध्ययन दिल्ली महिला आयोग द्वारा शुरू किया गया है। इसके तहत दिल्ली महिला आयोग की एक मजनू का टीला इलाके में रह रही इन पाकिस्तानी हिंदू महिला शरणार्थियों की हालत जानने क्षेत्र में पहुंची। आयोग इस अध्ययन के आधार पर इन महिला शरणार्थियों के पुनर्वास के लिए केंद्र एवं दिल्ली सरकार को सिफारिश देने जा रहा है। दिल्ली महिला आयोग द्वारा हिंदू महिला शरणार्थी को लेकर कहा गया है कि यहां रह रही हिंदू शरणार्थी लगातार दयनीय हालत में रह रहे हैं तथा उन्हें आवास, पानी, बिजली और शौचालय जैसी मूलभूत सुविधाएं की जरूरत है। दिल्ली महिला आयोग द्वारा यह भी कहा गया है कि इस क्षेत्र में रह रही पाकिस्तानी हिंदू महिला शरणार्थियों के पास आजीविका के उपयुक्त साधन उपलब्ध नहीं है।

दिल्ली महिला आयोग द्वारा कहा गया है कि उनमें से कई जबरन धर्मांतरण, अपहरण, धार्मिक हमले, यौन हमले जैसे उत्पीड़न से बचने के लिए पाकिस्तान से भाग कर यहां पहुंची हैं। महिला आयोग द्वारा पाकिस्तान से आए हिंदू महिला शरणार्थियों को लेकर कहा गया है कि यह शरणार्थी कच्चे मकान एवं शिविरों में रहने के लिए मजबूर हैं और उन्हें शौचालय की सुविधा तक उपलब्ध नहीं है जिसके कारण महिलाओं एवं बच्चों को खुले में शौच के लिए मजबूरन जाना पड़ता है। आयोग द्वारा कहा गया है कि बिजली के अभाव के कारण यह क्षेत्र असुरक्षित है और कई बार अनुरोध करने के बाद भी उन्हें नागरिकता नहीं दी गई है।

जानकारी के मुताबिक दिल्ली महिला आयोग विभिन्न विभागों को नोटिस जारी करेगा और पता लगाएगा कि इन शरणार्थियों के मुद्दों का समाधान करने के लिए उन्होंने क्या कदम उठाए। दिल्ली महिला आयोग ने कहा है कि हम पाकिस्तान से आए हिंदू महिला शरणार्थियों की दशा सुधारने के लिए दिल्ली सरकार एवं भारत सरकार को सुझाव देंगे।बता दें कि दिल्ली के मजनू टीला इलाके में अच्छी खासी संख्या में पाकिस्तानी हिंदू महिला शरणार्थी और उनके बच्चे रह रहे हैं जिन्हें इन दिनों कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending