वैक्सीन ना लगवाने वालो को सरकार ने लिया आड़े हाथों, अस्पताल से लेकर मूलभूत सभी सुविधाएं बंद करने का दिया आदेश

चीन। दुनिया भर में कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए सभी देशों की सरकारों ने वैक्सीनेशन में तेजी कर दी है। ऐसे में बहुत से लोग ऐसे भी है जो वैक्सीन लगवाने में आनाकानी कर रहे है जिसको देखते हुए तमाम देशों की सरकार ने तरह तरह की लुभावने तरीके खोज निकाले है जिसमे से कुछ देशों ने वैक्सीन लगवाने वालो को मुफ्त पिज्जा बांटा तो कुछ ने मुफ्त हवाई टिकट और कुछ ने बाइक बांटी। इसी कड़ी में चीन ने भी अपने देश के लोगो को वैक्सिनेशन के लिए राजी करने के लिए एक अचूक उपाय खोज निकाला है।
दरअसल चीन सरकार ने अपनी जनता को चेतावनी देते हुए घोषणा की है कि टीका न लगवाने पर उन्हें सार्वजनिक सेवाओं से वंचित कर दिया जाएगा। यहां तक की अस्पताल में इलाज भी नहीं किया जाएगा। चीन की कई क्षेत्रीय सरकारों ने अपने यहां यह आदेश जारी किया है। चीन संभवता दुनिया का पहला देश होगा, जहां टीका न लगवाने पर लोगों को इलाज जैसे आधारभूत अधिकार से वंचित करने की चेतावनी दी जा रही है।
इन सरकारों ने लोगों को जुलाई अंत तक टीका लगवा लेने का अंतिम मौका दिया है। अभी तक चीन के सिचुआन, फ़ुजियान, शानक्सी, जिआंगसु, जियांग्शी, गुआंग्शी, अनहुई, शेडोंग, हेबै, हेनान, झेजियांग और इनर मंगोलिया आदि राज्यों ने ये सख्तियां लागू करने की घोषणा कर दी है।
चीन की सरकार ने नोटिस जारी कर कहा है कि टीकाकरण सबकी जिम्मेदारी है। 26 जुलाई तक सभी लोग टीका लगवा लें वरना उन्हें सार्वजनिक परिवहन और चिकित्सा सुविधाओं से वंचित कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं, टीका न लगवाने वाले अभिभावकों के बच्चों को स्कूलों में प्रवेश भी नहीं मिलेगा। इस काउंटी में लगभग 220,000 लोग रहते हैं।
चीनी अफसरों का कहना है कि टीकाकरण की शुरुआत में वे लोगों को उत्साहित करने के लिए आइसक्रीम से लेकर गिफ्ट वाउचर तक दे रहे थे पर ग्रामीण इलाकों में स्थिति नहीं सुधरी। अफसर चाहते हैं कि सरकार टीकाकरण को अनिवार्य कर दे। सरकार ने दिसंबर तक 80% आबादी यानी एक अरब लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य तय किया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending