लखीमपुर हिंसा में योगी सरकार की तानाशाही पूरा देश देख रहा है..एक हफ्ता होने को है लेकिन अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं: अशोक गहलोत

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई घटना को तकरीबन एक हफ्ता होने को है लेकिन सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। तमाम विपक्षी नेताओं की आलोचनाओं के बाद अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस पार्टी का लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के खिलाफ़ संघर्ष और बीजेपी सरकार की तानाशाही पूरा देश देख रहा है।

अंत में उत्तरप्रदेश सरकार को देशभर से उठ रही आवाज़ को सुनना पड़ा और प्रियंका जी को 52 घंटे की गैरकानूनी हिरासत से रिहा किया गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए आगे लिखा, ” कांग्रेस नेता लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मारे गए किसानों के शोक संतप्त परिजनों से मिलने, उन्हें ढांढस बंधाने के लिए वहां जा रहे हैं। अभी तक किसी भी अपराधी को गिरफ्तार नहीं करना आश्चर्यजनक है।

केंद्र सरकार को मामले में हस्तक्षेप कर सुनिश्चित करना चाहिए कि दोषी गिरफ्तार हों और पीड़ितों को न्याय मिले। लखीमपुर खीरी में तो हद हो गई, दिन दहाड़े घटना हुई है, कोई अरेस्ट नहीं हुआ अभी तक, यह घटना सामान्य नहीं है,इसने देश को हिलाकर रख दिया है।” बता दें 5 अक्टूबर को जयपुर में पैदल मार्च करने के बाद अब प्रदेश कांग्रेस की ओर से 7 अक्टूबर गुरुवार को लखीमपुर खीरी के लिए पैदल मार्च रवाना होगा।

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh dotasra) के नेतृत्व में सुबह 11 बजे सैकड़ों कार्यकर्ता और नेता भरतपुर के ऊंचा नगला बॉर्डर (Bharatpur Uncha Nagla border) से लखीमपुर खीरी (Lakhimpur khiri) के लिए कूच कर चुके है। वहीं प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि किसानों (Farmers) के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए ।

साथ ही पीड़ित परिवारों को न्याय मिलना चाहिए। इसके लिए राजस्थान कांग्रेस लखीमपुर खीरी तक पैदल मार्च (foot march to Lakhimpur khiri) निकालेगी। वहीं पैदल मार्च के दौरान अगर यूपी पुलिस (UP Police ) की ओर से रोका गया, तो कांग्रेस कार्यकर्ता (Congress volunteers) वहीं अपनी गिरफ्तारी देगी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending