दूध में घी मिलाकर कीजिए सेवन, सभी बीमारियों को दूर करने का रामबाण इलाज, जानें इसके फायदे

यदि आप भी है जोड़ों के दर्द, कमर दर्द , घुटने दर्द से परेशान अगर आप को भी हर छोटे छोटे कार्य करने के बाद कमजोरी महसूस होती है, तो कीजिए दूध में एक चम्मच घी डालकर सेवन और फिर देखिए एक दो दिन के अंतराल में फर्क, दरअसल दूध के साथ गाय के घी के सेवन से यह मेटाबॉलिज्म बढ़ता भी है.

आइए जानते है दूध में घी मिलाकर पीने के अचूक फायदे –

शारीरिक मजबूती प्रदान करता है
दूध में एक चम्मच घी मिलने से शरीर को मजबूती भी मिलती है. यदि शरीर में हर छोटे-छोटे कार्यों को करने पर कमजोरी महसूस हो रही है तो ऐसे में इस थकान का इलाज दूध में घी मिलाकर इसके सेवन से किया जा सकता है. इससे थकान ही दूर नहीं होती है, बल्कि शरीर का स्टैमिना भी बढ़ता है, इसलिए रोज दूध में गाय का घी डालकर इसका सेवन करना चाहिए.

जोड़ों के दर्द को ठीक करने में सहायक
जिन लोगों को जोड़ों में दर्द की समस्या हमेशा बनी रहती है. उनके लिए दूध में घी का सेवन बेहतर औषधि है. इससे न सिर्फ जोडों का दर्द ठीक होता है बल्कि शरीर की हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत भी होती हैं. यदि रोज ही दूध में घी मिलाकर इसका सेवन करेंगे तो लाभ होगा. यही नहीं सर्दियों के मौसम में होने वाले जोड़ों के दर्द में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

मानसिक थकान कम करने में सहायक
दूध के साथ घी में कई एंटी ऑक्सीडेंट तत्व होने के कारण शरीर में हल्कापन महसूस होता है, जिससे मानसिक थकान भी दूर हो जाती है. यह नुस्खा कैंसर से भी बचाव करता है, जो लोग प्रतिदिन इसका सेवन करते हैं, उन्हें कैंसर होने की आशंका कम हो जाती है.

मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में सहायक
इससे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है. इससे शरीर डिटॉक्स होता है, जिससे शरीर में मौजूद सभी विषैले पदार्थ मूत्र त्याग के जरिए बाहर निकल जाते हैं. रात में सोने से पहले दूध में घी मिलाकर पीने से फायदा होगा.

बढ़ेगा त्वचा का निखार
इसमें त्वचा का निखार बढ़ाने के भी गुण पाए जाते हैं. इसलिए भी दूध में घी का सेवन लाभकारी होता है, जो बढ़ती उम्र में भी जवां बनाए रखता है. इसके नियमित सेवन से त्वचा की झुर्रियां भी दूर हो जाती हैं और त्वचा के दाग धब्बे भी मिट जाते हैं. 
पाचन प्रक्रिया को दुरुस्त बनाता है 

इसके सेवन से पाचन संबंधित सभी एंजाइम से स्त्राव बढ़ता है, जिससे पाचन मजबूत होता है. जिनके पेट में कब्ज की समस्या है, उनके लिए इससे बढ़िया आयुर्वेदिक औषधि और कोई नही हो सकती है. साथ ही पेट में एसिडिटी की समस्या भी इसके सेवन से दूर होती है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending