अपने बयान से पलटे स्वामी रामदेव डॉक्टर्स को बताया देवदूत कहा, इस धरती के लिए वरदान से कम नहीं डॉक्टर्स

सोशल मीडिया और देश भर में हुए भारी विरोध प्रदर्शन के बाद योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने पलटा अपना बयान कहा, जल्द ही लगवाएंगे कोरोना वैक्सीन…बाबा रामदेव ने आगे कहा, डॉक्टर देवदूत के समान होते हैं इसलिए योग और आयुर्वेद के साथ ही टीका भी लेना जरूरी है। इसके साथ ही रामदेव ने पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से देश के सभी लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगाए जाने का ऐलान करने की भी तारीफ की। बता दें कि देश में सभी के मुफ्त टीकाकरण अभियान की शुरुआत 21 जून से शुरू हो रही है।
बीते कई दिनों से एलोपैथी चिकित्सा पद्धति और डॉक्टरों पर निशाना साधने वाले बाबा रामदेव ने खुद टीका लगवाने का ऐलान करने के साथ ही अन्य लोगों से भी वैक्सीन लेने की अपील की है। बता दें कि इससे पहले उन्होंने कोरोना टीकों के असरदार होने को लेकर सवाल उठाया था। इतना ही नहीं बाबा रामदेव ने कहा था कि हजारों डॉक्टरों को वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना हो गया और तमाम मर भी गए। हालांकि बाद में पतंजलि की ओर से सफाई में कहा गया था कि बाबा रामदेव ने एक वॉट्सऐप मेसेज पढ़ते हुए यह बात कही थी यह उनका बयान नहीं था। बाबा रामदेव की ओर से टीका लगवाने और अन्य लोगों से अपील करने की बात उनके एलोपैथी पर अपने पहले दिए बयान से एकदम विपरीत है।
बाबा रामदेव ने पिछले दिनों एलोपैथी पर दिए अपने बयान की सफाई में कहा, उनका विवाद डॉक्टरों से नहीं है, वे तो इस धरती के लिए वरदान हैं। उनका कहना था कि उनकी जंग दवा माफियाओं के खिलाफ है। रामदेव ने दवा माफिया का जिक्र करते हुए जेनेरिक दवाओं और अन्य ड्रग्स के दामों में अंतर की बात भी सोशल मीडिया पर कही थी। रामदेव ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जन औषधि स्टोर इसलिए खोलने पड़े हैं क्योंकि ड्रग माफियाओं ने फैन्सी स्टोर खोल लिए थे। इन स्टोर्स पर वे जरूरी दवाओं की बजाय ऊंची कीमतों पर बेवजह की दवाएं बेचते थे।’

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending