सोशल मीडिया किसी का माई बाप नही है, जवाब देने के लिए मुहुर्त ना देखें तुरंत जवाब दें: योगी आदित्यनाथ

शुक्रवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में भाजपा के आईटी एवं सोशल मीडिया कार्यशाला के समापन समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का समाधान शांतिपूर्वक हो गया। लोग कहते थे कि यदि मंदिर के पक्ष में फैसला आया तो खून की नदियां बहेंगी। समाधान हो गया और एक मच्छर तक नहीं मरा, यही रामराज्य है। 

योगी ने आगे कहा, आज राज्य में कहीं कोई कैराना बनाने दुस्साहस नहीं कर रहा है। पहले राज्य में औसतन हर तीसरे दिन में एक दंगे होते थे, अब साढ़े चार साल में एक भी दंगे नहीं हुए। क्योंकि हमने प्रोपेगंडा नहीं किया है। जो करना था वह किया। कश्मीर से आतंकवाद की सबसे बड़ी धारा 370 को समाप्त कर दिया। एक भारत श्रेष्ठ भारत के नारे को चरितार्थ करके दिखाया है।

मुख्यमंत्री ने आईटी एवं सोशल मीडिया कार्यकर्ताओं से कहा कि सोशल मीडिया का कोई माई-बाप नहीं है, इसलिए अलर्ट रहें। यह मीडिया पूरी व्यवस्था को प्रभावित कर रहा है। आज सोशल मीडिया पर चलने वाले पोस्ट प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया में डिबेट का मुद्दा बन रहे हैं। 

उन्होंने आगे कहा की सोशल मीडिया का प्रयोग देश का वातावरण खराब करने में भी किया जा रहा है। मुद्दों से ध्यान भटकाने में इसका प्रयोग किया जा रहा है। आज सोशल मीडिया की भूमिका बहुत बढ़ गई है। विपक्ष इस मीडिया पर अधिक सक्रिय है। विपक्ष जनहित के मुद्दों पर चर्चा नहीं करना चाहता है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी की किसी भी घटना पर दूसरे राज्यों और देशों से 90 फीसदी से अधिक ट्वीट हो रहे हैं। सामाजिक विद्वेष व जातीय विखंडन से राजनीतिक रोटी सेंकने की कोशिशें हो रही हैं। हम तटस्थ बने रहते हैं। ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया का प्रशिक्षण जरूरी है। 

योगी ने कहा, सोशल मीडिया पर विरोधियों का जवाब देने के लिए मुहुर्त देखने की जरूरत नहीं है। तत्काल जवाब दें। ट्वीट को प्रभावी बनाएं। कम शब्दों में ही प्रभावी ट्वीट करें। इस मीडिया के साथ सकारात्मक रहते हुए आगे बढ़ने की जरूरत है। बता दे योगी के साथ ही इस कार्यशाला को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा ने भी संबोधित किया। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending