मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सत्येंद्र जैन को झटका, कोर्ट ने 13 जून तक ईडी की कस्टडी में भेजा

दिल्ली की केजरीवाल सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन को राउज एवेन्यू कोर्ट से झटका लगा है। दरअसल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन को फिर एक बार 13 जून तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया गया है। गुरुवार को सत्येंद्र जैन की कस्टडी समाप्त हो रही थी लेकिन दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने सत्येंद्र जैन को 13 जून तक के लिए ईडी की कस्टडी में भेज दिया है। ईडी ने सत्येंद्र जैन की 5 दिन की कस्टडी की मांग गुरुवार को की थी जिसका सत्येंद्र जैन की तरफ से पेश वकील कपिल सिब्बल द्वारा विरोध किया गया।

कपिल सिब्बल ने कहा कि सत्येंद्र जैन के मामले की जांच सीबीआई 2016 से ही कर रही है लेकिन अभी तक इस मामले में कोई भी चार्जशीट दाखिल नहीं की जा सकी। इसके साथ ही कपिल सिब्बल ने कहा कि ईडी का कोई कार्यकत्र नहीं बनता कि वह इस मामले की जांच करें। वही सिब्बल की इस दलील पर कोर्ट द्वारा कहा गया है कि ईडी मनी लॉन्ड्रिंग के मामले से जुड़े मामले की जांच कर रही है। 

बता दें कि सत्येंद्र जैन को 30 मई को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था और 31 मई को ट्रायल कोर्ट ने सत्येंद्र जैन को 9 जून तक के लिए ईडी की कस्टडी में भेज दिया था। सूत्रों की माने तो प्रवर्तन निदेशालय को सत्येंद्र जैन से लगातार पूछताछ के दौरान कई अहम जानकारी प्राप्त हुई है। 

अंदाजा लगाया जा रहा है कि ईडी इस मामले से जुड़े कई अन्य आरोपियों को सत्येंद्र जैन के आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करना चाहती है जिसको लेकर एजेंसी ने सत्येंद्र जैन की 5 दिन की और कस्टडी की मांग की है। बता दें कि ईडी ने दावा किया है कि सत्येंद्र जैन और उस और उनसे जुड़े लोगों के खिलाफ छापेमारी के दौरान उसे 2.82 करोड रुपए नगद और  1.80 किलोग्राम वजन के 133 सोने के सिक्के मिले है। 

वही सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी को लेकर इन दिनों भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच बयानबाजी का दौर चल रहा है। एक और जहां आम आदमी पार्टी भाजपा पर बेवजह सत्येंद्र जैन को परेशान करने का आरोप लगा रही है तो वहीं भाजपा का कहना है कि केजरीवाल सरकार अपने मंत्री के भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने की लगातार कोशिश कर रही हैं लेकिन सच्चाई सबके सामने आ गई है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending