शर्लिन चोपड़ा ने शिल्पा पर साधा निशाना कहा- “महिला होने के नाते उन के प्रति भी सहानुभूति दिखाए जो न्याय मांग रही हैं”

एक तरफ जहां पति की गिरफ्तारी के बाद एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने खुद को संभालते हुए अपने डांस रियलिटी शो सुपर डांसर चैप्टर 4 की शूटिंग में दुबारा हिस्सा लिया है वहीं दूसरी तरफ शर्लिन चोपड़ा ने फिर एक बार शिल्पा शेट्टी पर निशाना साधते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो सांझा किया है। इस वीडियो में शर्लिन चोपड़ा ने शिल्पा से कुछ खास बातें कहीं हैं। शर्लिन ने इस वीडियो में शिल्पा को दीदी कहकर बुलाते हुए नजर आ रही है।
एक्ट्रेस शर्लिन चोपड़ा ने विडियो जारी कर कहा:-“हाय शिल्पा दीदी मेरा आप से निवेदन है कि पीड़ित लड़कियों के प्रति आप थोड़ी बहुत सहानुभूति दिखाएं। अपनी गलतियों को स्वीकार करने से कोई छोटा नहीं होता। शिल्पा दीदी मैंने कुछ दिनों पहले आप को एक डांस रियलिटी शो पर देखा था, जहां आप ने कहा था कि जब कभी आप रानी लक्ष्मी बाई की कहानी सुनती हैं तो गर्व से आपका सीना चौड़ा हो जाता है। आपने ने ये भी कहा था कि रानी लक्ष्मी बाई की कहानी एक रियलिटी है, इतिहास है.. रानी लक्ष्मी बाई को भारत का बच्चा-बच्चा जनता है, लेकिन कुछ ब्रिटिश पासपोर्ट रखने वाले लोग उनके बारे में नहीं जानते होंगे। शो पर आपने ये भी कहा था कि जो महिलाएं अपने जीवन में भी संघषों का सामने करते हुए अपने जीवन को जीती हैं उन्हें आप प्रणाम करती हैं। क्या उन महिलाओं में वो बेबस और पीड़ित लड़कियां भी शामिल हैं जिन्होंने हिम्मत जुटाकर अलग अलग पुलिस स्टेशन में जाकर अपने बयान को दिया।”
शर्लिन इस वीडियो में आगे कहती हैं कि आज कल जब कभी मैं अपने सोशल मीडिया पर अपने तस्वीरों को पोस्ट करती हूं तो तुरंत आपके समर्थक हला बोल देते हैं और कहते हैं कि ये तस्वीरें फोटोशॉप हैं, मैं आपको बता दूं इस देश की जांच एजेंसियां आपसे और आपके समर्थकों से ज्यादा पढ़ी लिखी हैं और समझदार हैं। जिस वजह से उन्हें तथ्यों की जांच करना बहुत अच्छे से आता है। 
उन्होंने आगे कहा, कुछ दिनों पहले मैंने सोशल मीडिया पर आपका एक पोस्ट पढ़ा था, जिसमें अपने आस्था (Faith) की बात की थी। वो पोस्ट पढ़ने के बाद मुझे बहुत अच्छा लगा था, लेकिन मेरा ये मानना है कि विश्वास एक ऐसी शक्ति है जिससे उजड़ी दुनिया में भी प्रकाश किया जा सकता है। मेरा आपसे एक निवेदन है, वो ये है कि एक महिला होने के नाते आप उन बेबस और पीड़ित लड़कियों के प्रति थोड़ी बहुत सहानुभूति दिखाए जो इस वक्त न्याय की मांग कर रही हैं। उन्हें राज्य के न्याय व्यवस्था और न्याय पालिका पर पूरा भरोसा है। “जय हिंद जय महाराष्ट्र”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending