शर्मनाक!! लॉकडाउन के कारण हॉस्टल में रह रहें छात्र के प्राइवेट पार्ट को शिक्षकों ने गर्म आयरन से दागा, स्थिति नाजुक

बिहार के बेगूसराय जिले के सदर प्रखंड के चांदपुरा पीसी स्कूल (निजी विद्यालय) से बेहद शर्मनाक घटना सामने आई है जहां शिक्षकों ने हॉस्टल में रह रहे 10 वर्षीय छात्र प्रेम कुमार के प्राइवेट पार्ट में गर्म आयरन लगा दिया। आयरन की वजह से वह बुरी तरह जख्मी हो गया है स्थिति बेहद नाजुक बनी हुई है।
पीड़ित छात्र की मां सुधा देवी ने पुलिस को बताया कि जब उसका बेटा घर आया और नहाने के लिए कपड़ा हटाया तो उसने देखा कि पैखाना के रास्ते के दोनों भाग जले हुए थे और उससे पस निकल रहे थे। उन्होंने अपने बेटे से जलने का सच जाना तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई।
पीड़ित छात्र प्रेम ने अपनी मां को बताया कि हॉस्टल में शिक्षक ने आयरन गर्म कर दाग दिया। जलन से जब वह छटपटाने लगा तो उसका इलाज कराता रहा। साथ ही धमकी दी कि आयरन से जलाने की बात कहेगा तो स्कूल से नाम काट कर हटा देंगे।
उसकी बात को सुनने के बाद सुधा देवी ने आसपास के लोगों को भी सूचना दी व नीमाचांदपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी। जिसके बाद नीमाचांदपुरा थानाध्यक्ष अमित कुमार कांत ने स्कूल के शिक्षक राहुल कुमार व चंदन कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
बता दें ये शर्मनाक घटना तब सामने आई है जब जब कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन है।स्कूल-कॉलेज से लेकर हॉस्टल तक बंद रखने का आदेश है। इसके बावजूद स्कूल संचालक ने कोविड गाइडलाइन व लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते हुए छात्र के साथ आपराधिक घटना को अंजाम दिया।
वहीं पुलिस हत्थे चढ़े आरोपी शिक्षक राहुल कुमार उर्फ किशन ने बताया कि बच्चे को जानबूझकर उनके वहां रख दिया गया। उसे फंसाया गया है। बच्चा कहीं आग पर गिरकर जल गया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending