योगी सरकार के रवैए को देख सख्त हुआ सुप्रीम कोर्ट, कहा – यूपी सरकार के प्रशासन अधिकारी निष्पक्ष नहीं…

शुक्रवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार के खिलाफ सख्त रवैया अपनाते हुए पूछा है की CBI जांच की मांग क्यों नहीं की गई है? कोर्ट ने पूछा की आखिर इस पूरे मामले में लोकल अधिकारी कैसे निष्पक्ष जांच करेंगे? सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा हत्या के गंभीर आरोप हैं..आरोपी चाहे जितने हैं उन पर वैसा एक्शन क्यूं नहीं लिया गया जैसा होना चाहिए??

वहीं यूपी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने भी जवाब देते हुए कहा की पुलिस ने मामला दर्ज किया है सीबीआई इस मामले में हल नहीं है। हम दशहरे की छुट्टियों के बाद मामले पर सुनवाई करेंगे। यूपी सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने कोर्ट में सुनवाई के दौरान अपनी बात रखते हुए आगे कहा कि राज्य सरकार को थोड़ा वक्त दें, 18 अक्टूबर को सुनवाई करें। पुलिस ने मामला दर्ज किया है और हमारे पास सबूत हैं।

हरीश साल्वे ने कहा, जिस व्यक्ति पर आरोप लग रहा है हमने उसको नोटिस जारी किया है। अगर वो पेश नही होता है तो सख्त कदम उठाया जाएगा। साल्वे ने कहा कि अगर वह पेश नहीं होता तो हम वारंट जारी करेंगे। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जिस तरीके से आप दूसरे लोगो को ट्रीट करते है वैसे ही इस मामले में भी ट्रीट किया जाए। सीजेआई ने कहा कि इस मामले में यह देखने कि जरूरत है कि क्या संदेश जनता में जा रहा है। बता दें सुप्रीम कोर्ट में इस पूरे मामले की अगली 23 अक्टूबर को होगी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending