वैज्ञानिकों ने बताया रक्त का थक्का जमने से हो रही मौत का कारण

वैज्ञानिकों ने बताया कोरोना मरीजों में रक्त के थक्के जमने का कारण साथ ही इस से होने वाली मौत का कारण भी बताया। वैज्ञानिकों के अनुसार, रक्त के जमने से होने वाली मौत का कारण एक खास तरह का मॉलीक्यूल है। संक्रमित मरीजों में इस मॉलिक्यूल का स्तर बढ़ने में रक्त के थक्के जमते हैं और मौत का खतरा बढ़ता है। यह दावा रॉयल कॉलेज ऑफ सर्जंस इन आयरलैंड यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिसिन (Royal College of Surgeons in Ireland University of Medicine) के शोधकर्ताओं ने किया है।

कोरोना के मरीजों में रक्त के थक्के जमने के कारण का पता करने के लिए वैज्ञानिकों ने डबलिन के ब्यूमॉन्ट हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना पीड़ितों पर रिसर्च की और सभी कोरोना मरीजों का ब्लड सैंपल भी लिया। जिसके बाद ब्लड रिर्पोट का रिजल्ट आने पर सामने आया कि इन मरीजों में VWF मॉलिक्यूल का स्तर अधिक था, यह रक्त का थक्का जमाता है। वहीं, थक्के को जमने से रोकने वाले मॉलीक्यूल ADAMTS13 का स्तर कम था।

शोधकर्ता डॉ. जैमी ओ’सुलीवन (Dr. Jamie O’Sullivan) के मुताबिक, दोनों मॉलीक्यूल का बैलेंस बिगड़ने पर थक्के जमने लगते हैं और मौत का खतरा बढ़ता है। पिछली कई रिसर्च में यह साबित हो चुका है कि कोरोना के कई मरीजों की मौत रक्त का थक्का जमने से हुई है। उन्होंने आगे कहा की कोरोना के मरीजों ADAMTS13 और VVF का लेवल मेंटेन रखने के लिए अभी और रिसर्च करने की जरूरत है।

हाल ही मे भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने एक रिर्पोट जारी करते हुए कहा की, “कोवीशील्ड के बाद 26 ऐसे संदिग्ध मामले सामने आए हैं, जिनको ब्लीडिंग और खून का थक्का जमने की शिकायत हुई है।” मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उन्होंने कुल 498 मामलों का अध्ययन किया है, जो गंभीर थे। इनमें से उसे 26 ही ऐसे केस मिले, जिनमें कोवीशील्ड वैक्सीन लगने के बाद खून बहने या फिर खून का थक्का जमने की आशंका है। हालांकि कोवैक्सिन लेने के बाद खून के थक्के जमने या बहने जैसी कोई समस्या सामने नहीं आई है।

बता दें की गंभीर साइड इफेक्ट के डर से कई देशों ने इस वैक्सीन को सस्पेंड या इस पर प्रतिबंध लगा रखा है। हालांकि, कई हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोवीशील्ड के साइड इफेक्ट इस वैक्सीन के लाभ से बहुत ही कम हैं। भारत में यह पहली बार है, जब कोवीशील्ड से होने वाले गंभीर नुकसान को इस तरह स्वीकार किया गया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending