वैज्ञानिकों ने बंदरों की स्टेम कोशिकाओं से तैयार किया स्पर्म, अब दूर होगी पुरुषों में नपुंसकता

जॉर्जिया यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने बंदरों की स्टेम कोशिकाओं से एक स्पर्म बनाकर तैयार किया है वैज्ञानिकों का दावा है की इस स्पर्म की सहायता से पुरुषों की नपुंसकता दूर की जा सकती है। दरअसल, वैज्ञानिकों का कहना है की, बंदरों का प्रजनन तंत्र यानी रिप्रोडक्टिव सिस्टम इंसानों से मिलता-जुलता है। इसलिए यह प्रयोग पुरुषों में होने वाली नपुंसकता के इलाज के लिए अहम साबित हो सकता है।

स्पर्म तैयार करने में मिली सफलता के बाद वैज्ञानिक इससे तैयार भ्रूण को मादा बंदर में इम्प्लांट करेंगे। प्रयोग में यह देखा जाएगा कि इससे जन्म लेने वाला बंदर कितना स्वस्थ है। शोधकर्ता का कहना है, अगर यह ट्रायल सफल होता है तो बंदरों की स्किन की कोशिकाओं से स्पर्म को तैयार करने पर काम किया जाएगा। इसे सफल होने पर एक नया विकल्प तैयार होगा। 

इस स्पर्म को तैयार करने में वैज्ञानिकों को 5 साल का समय लगा। शोधकर्ताओ का कहना है की, “यह एक बड़ी खोज है। स्टेम सेल थैरेपी से उन पुरुषों में नपुंसकता का इलाज हो सकेगा जिसमें पर्याप्त मात्रा में स्पर्म नहीं बन पाते।” हालांकि अभी 100 फीसदी तक यह नहीं कहा जा सकता कि यह तकनीक पुरुषों की नपुंसकता का पूरी तरह से इलाज कर देगी। यह एक उम्मीद की तरह है क्योंकि इंसान और बंदरों को प्रजनन तंत्र मिलता-जुलता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending