वैज्ञानिकों ने बनाया दर्द दूर करने वाला हेडसेट, अब ऐप के जरिए कंट्रोल होगा दर्द

वैज्ञानिकों ने एक खास तरह का दर्द को घटाने वाला हेडसेट तैयार किया है। जो आठ हफ्तों तक लगातार पहनने के बाद नींद, मूड और क्वालिटी ऑफ लाइफ को बेहतर बनाता है। इसके साथ ही इसे पहनने से बेचैनी और डिप्रेशन में भी गिरावट आती है। एक छोटे से ट्रायल में यह सामने आया है कि इस डिवाइस को सिर में पहनने के बाद दर्द में कमी आती है। दरअसल, यह हेडसेट मस्तिष्क की ब्रेनवेव्स को पढ़ता है।

फिर ब्रेन को दर्द से निपटने के लिए तैयार करता है। इस तरह लक्षण में कमी आती है। यह हेडसेट इलेक्ट्रो एनसिफेलोग्राम (ईईजी) तकनीक की मदद से काम करता है। हेडसेट में लगे 8 इलेक्ट्रोड सिर की स्किन (स्कैल्प) पर रखे जाते हैं। ये इलेक्ट्रोड दिमाग की इलेक्ट्रिकल एक्टिविटी पर नजर रखता है। इसी ईईजी मशीन से मिर्गी जैसी बीमारियों का भी पता लगाया जाता है।

इसे न्यूरोफीडबैक थैरेपी से भी जोड़ा जा सकता है। ऐसा होने पर ब्रेन से जुड़े डाटा को मरीज ऐप पर देख सकता है। इसकी मदद से ब्रेन की एक्टिविटी को कंट्रोल कर सकता है। आर्थराइटिस जैसी बीमारी में तेज दर्द होने पर दिमाग को लगातार नर्व से सिग्नल मिलते हैं। ईईजी न्यूरोफीडबैक के जरिए इसे दर्द वाली ब्रेनवेव्स को दबाया जाता है और बिना दर्द वाली ब्रेनवेव्स को बढ़ाया जाता है।

रिसर्च कहती है, दर्द को घटाने के लिए फिजियोथैरेपी और पेनकिलर्स का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यह हर मरीज के लिए असरदार नहीं साबित होतीं। कुछ मामलों में साइड इफेक्ट और कुछ मामलों में इसकी आदत भी हो जाती है।
शोधकर्ताओं के अनुसार, अगले साल तक यह हेडसेट बाजार में उपलब्ध कराया जा सकता है। इससे पहले न्यूजीलैंड मं बड़े स्तर पर ट्रायल किया जाएग, इसमें 100 से अधिक लोगों को शामिल किया जाएगा। लिवरपूल में द वॉल्टन सेंटर के कंसल्टेंट न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. निक सिल्वर कहते हैं, पोर्टेबल ईईजी-न्यूरोफीडबैक डिवाइस एक बेहतरीन डेवलपमेंट है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending