संजय राउत ने एक बार फिर दिया विवादित बयान, किसानो को बताया तालिबानी, सोशल मीडिया पर भड़के यूजर्स

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसान संगठन का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। किसानों के आंदोलन को 9 महीने पूरे हो चुके है। किसानों के आंदोलन के जरिए विपक्षी दल सरकार को घेरने की कोशिश लगातार कर रही है और जमकर सियासत भी कर रही है। वहीं हाल ही में हरियाणा के करनाल में किसान प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा की गई लाठीचार्ज पर अब सियासत भी तेज हो गई है। इस मुद्दे को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। लेकिन सरकार को घेरने के चक्कर में संजय राउत ने विवादित टिप्पणी कर डाली। जिसके बाद वह एक बार फिर सुर्खियों में आ गए है। दरअसल संजय राउत ने हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की तालिबानी सोच से तुलना कर डाली।
शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि, ”किसानों पर लाठीचार्ज की घटना देश के लिए शर्मनाक घटना है। यह तालिबानी मानसिकता है। ये सरकार कैसे कह सकती है कि वह गरीब और किसानों की सरकार है। ये सरकार किसानों के ‘मन की बात’ को भी नहीं सुनती है।”
वहीं इस बयान के बाद संजय राउत सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए। विशाल गुप्ता नाम के यूजर ने शिवसेना नेता पर हमला बोलते हुए लिखा, और ये राउत व उसका नेता खुद क्या करता है जब इस के कार्यकर्ता लोगों को मारते है और उन के बाल काट ते है तब वो इंसानियत दिखाते हैं क्या ??
बता दें कि अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा की ओर से दावा किया गया है कि पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में एक किसान की मौत हो गई। किसानों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया और पुलिस के रवैये पर सवाल भी उठाए।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending