संजय राउत ने कश्मीर के बिगड़ते हालातों पर जाहिर की चिंता, कहा – धमकी से काम नहीं चलेगा, सर्जिकल स्ट्राइक ही एकमात्र उपाय

शिवसेना नेता संजय राउत ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि, “कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से परिस्थिति बिगड़ गई है। आतंकवाद फिर से बढ़ गया है। अनुच्छेद 370 हटाने के बाद भी परिस्थियां सुधरने का नाम नही ले रही हैं। सिख, कश्मीरी पंडित, बिहारी मजदूरों जैसे निर्दोष लोगों की हत्याएं हो रही हैं। इसकी जवाबदेही गृह मंत्रालय और केंद्र सरकार की है।” 

उन्होंने आगे कहा की, “जब पाकिस्तान की इन हरकतों पर बात होती है तो सर्जिकल स्ट्राइक की धमकी दी जाती है। सिर्फ पाकिस्तान को धमकी देकर काम नही चलेगा। चीन ने भी लद्दाख में घुसपैठ की है। उस पर भी सर्जिकल स्ट्राइक करके दिखाएं।” संजय राउत ने कहा कि गृहमंत्री और रक्षामंत्री को देश को बताना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के क्या हालात हैं।

वहीं भारत को पाकिस्तान के साथ टी-20 वर्ल्ड कप मैच खेलने के सवाल का जवाब देते हुए संजय राउत ने कहा कि, “अपने राजनीतिक सुविधा के अनुसार सरकार फैसला लेती है, जबकि वहां आम आदमी मारा जाता है। हम पहले से ही कह रहे हैं कि पाकिस्तान से किसी भी तरह का रिश्ता नहीं रखिए। वहां जाकर केक काटते हो, उन्हें गले लगाते हो। कश्मीर में परिस्थियां कभी भी सामान्य नहीं थी। सोशल मीडिया पर पाबंदी थी।

स्थानीय नेता नज़रबंद थे। इसलिए ज्यादा चीजें निकलकर बाहर नहीं आयी। सरकार को इन मुद्दों पर सफाई देनी चाहिए।” बता दें संजय राउत का यह बयान जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा दो और गैर-स्थानीय लोगों की गोली मारकर हत्या करने के एक दिन बाद आया है। घटना रविवार शाम कुलगाम जिले के वानपोह इलाके की है।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने हमले के तुरंत बाद कहा कि आतंकवादियों ने लोगों के एक समूह पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसमें दो की मौत हो गई और एक घायल हो गया। रविवार को हुई घटना कश्मीर में दो दिनों में गैर-स्थानीय लोगों पर तीसरा हमला था। इसके साथ ही अक्टूबर में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending