सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं केसर, जानिए इसके लाजवाब फायदे

केसर दुनिया के सबसे कीमती मसालों में शुमार है। लाल लंबे धागे की तरह दिखने वाले केसर को स्वास्थ्य केडी लिहाज से सबसे बेहतरीन माना जाता है। आयुर्वेद में केसर का बहुत ही अधिक महत्व बताया गया है। आयुर्वेद के अनुसार, केसर का सेवन करना छोटे बच्चों से लेकर वयस्कों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आपके शरीर को केसर के इस्तेमाल से ना सिर्फ कई तरह के फायदे पहुंचते हैं, बल्कि यह कई बीमारियों को होने से रोकता भी है। रोग हो जाने पर उसे ठीक करने में भी मदद पहुंचाता है। तो आइए जानते है केसर, उसमे मौजूद पोषक तत्व और उससे जुड़े लाजवाब फायदे:-

केसर क्या है??

केसर का उपयोग विभिन्न औषधियों, और खाद्य पदार्थों में किया जाता है। केसर का पौधा छोटे आकार का होता है। केसर का पौधा कई सालों तक जीवित रहता है। इसकी जड़ के नीचे प्याज के समान गांठदार शल्ककन्द होता है। इसके पत्ते घास के समान लम्बे, एवं पतले होते हैं। केसर के फूल नीले, बैंगनी, लाल-नारंगी रंग के होते हैं। फूल के स्त्रीकेशर के सूखे हुए आगे वाले भाग को केशर कहते हैं। 

केसर मे मौजूद पोषक तत्व
केसर एंटीऑक्‍सीडेंट्स से युक्‍त होता है और इसमें पौधों से प्राप्‍त अन्‍य कई घटक भी मौजूद होते हैं जो प्रतिरक्षा तंत्र को फायदा पहुंचाते हैं और स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार लाते हैं। रोगाणुरोधक, पाचक, तनाव-रोधी और दौरे रोकने में भी केसर असरकारी है। इस मसाले में पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन और विटामिन ए, विटामिन सी आदि प्रचुरता में मौजूद होता है।

केसर खाने का सही तरीका
• एक कप उबलते पानी में 8-10 ताजा केसर को मिलाएं। 10 मिनट के लिए इस मिश्रण को उबलने दें और फिर इसे पियें। रोजाना सुबह या शाम इसका सेवन करें।
• एक कप दूध में चीनी और 10 केसर को 5 मिनट तक के लिए उबलने दें। फिर इसक सेवन करें।
• आप 20 मिलीग्राम केसर पाउडर को अपने पसंदीदा सलाद में मिला सकते हैं और इसे खा सकते हैं।
• किसी भी सब्जी में केसर को मिलाएं और इसके बढ़िया स्वाद का मजा लें।

केसर के फायदे
>> केसर दिमाग में विकसित हो रहे अमीलोइड बीटा (amyloid b) पर रोक लगाता है और आपके दिमाग को अल्ज़ाइमर एवं अन्य स्मरण-शक्ति से सम्बंधित विकारों से बचाता है। 
>> केसर स्त्रियों में मासिक धर्म के होने से पहले वाले लक्षणों (Pre-menstrual syndrome, PMS) से राहत दिलाने के लिए एक वैकल्पिक उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
>> केसर अस्थमा के रोगी को स्वस्थ रूप से सांस लेने में भी सहायता करता है। यह फेफड़ों में जलन एवं सूजन को कम करता है और हवा को फेफड़ों से अच्छे से पास होने में मदद करता है। 
>> केसर में बहुत ही प्रभावशील एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो समय से पहले आने वाले बुढ़ापे को आपके शरीर को प्रभावित करने से पहले ही भगा देता है। यह मुँहासे, धब्बे, झुर्रियां और ब्लैकहैड के इलाज के लिए भी प्रभावी है।
>> केसर एंटीऑक्सीडेंट्स और कैरोटीनोइड का काफी अच्छा स्रोत है। इसमें मौजूद प्राकृतिक कैरोटीनोइड (carotenoids), क्रोसिन (crocin), क्रोकेटिन (crocetin), पिक्रोक्रोकिन (picrocrocin) और फ्लैवोनोइड्स (flavonoids) की अधिक मात्रा उम्र बढ़ने के साथ होने वाली आंखों की समस्या को ठीक करने में मदद करते हैं।
>> केसर कैरोटीनोइड (carotenoids) में समृद्ध है, जो हमें कैंसर से बचाने में मदद कर सकता है। केसर में मौजूद क्रोसिन स्तन कैंसर और ब्लड कैंसर को रोक सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, क्रोकेटिनिक एसिड (crocetinic acid) में अग्नाशयी कैंसर (pancreatic cancer) को रोकने की क्षमता होती है।
>> गर्भवती महिलाओं में पेट में गैस और सूजन एक आम समस्या होती है। एक गिलास केसर का दूध इन समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं का मिजाज बदलता रहता है जिसके कारण उन्हें चिंता और अवसाद जैसी समस्या भी हो जाती है। क्योंकि केसर एक अवसाद विरोधक के रूप में कार्य करता है इसलिए इस स्थिति में केसर बहुत लाभदायक होता है। 
>> केसर गैस एवं एसिडिटी जैसे पाचन प्रणाली सम्बंधित विकारों के उपचार के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा, केसर में ऐसे गुण भी पाए जाते हैं जो पेट में गैस को कम करने और पेट में हो रहे दर्द को भी ठीक करने में सक्षम हैं। 
>> केसर ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह रक्त-चाप के स्वस्थ स्तर को बनाये रखने एवं हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है। यह रक्त-धमनियों को पोषित कर उनमें हो रहे प्लाक के गठन पर रोक लगाता है और रक्त-प्रवाह को नियमित करता है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending