भारतीय क्रिकेट टीम के पांड्या ब्रदर्स के लिए दुखद खबर, हुआ उनके पिता का निधन

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर ब्रदर्स यानी क्रुणाल और हार्दिक पांड्या के लिए बेहद दुखद खबर आई है। उनके पिता का हार्ट अटैक के कारण निधन हो गया है। फ़िलहाल सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूूर्नामेंट के लिए बड़ोदा की टीम की कप्तानी संभाल रहे क्रुणाल पांड्या टीम को छोड़ अपने घर वापस लौट गए हैं। आज सुबह-सुबह हीं यह खबर मिली। क्रुणाल पांड्या अब बड़ौदा की ओर से इस टी-20 टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे। बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ शिशिर हट्टंगडी ने मीडिया को बताया की क्रुणाल पांड्या इस बार बायोबबल छोड़ रहे हैं। बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने इस वारदात पर शोक व्यक्त किया है और कहा कि यह एक व्यक्तिगत त्रासदी है। अब तक चल रहे सैयद मुश्ताक टूर्नामेंट में क्रुणाल पांड्या ने तीन मैच खेले थें और उनमे पंड्या ने चार विकेट लिए हैं।

पहले मैच में क्रुणाल ने उत्तराखंड के विरुद्ध बड़ौदा के लिए 76 रन हासिल किए। बता दें कि चल रहे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बड़ौदा ने अब तक सभी तीन मैचों में जीते हासिल की है। हालांकि फ़िलहाल हार्दिक पंड्या सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी नहीं खेलेंगे, लेकिन उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध होने वाली सीरीज के लिए अपनी ओर से प्रशिक्षण शुरू कर दिया है। ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेले जा रहे टेस्ट सीरीज में हार्दिक भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं।

बता दें कि हार्दिक और क्रुणाल पांड्या को क्रिकेटर बनाने में उनके पिता हिमांशु पांड्या का बेहद बड़ा हाथ रहा था। उनके पिता हिमांशु सूरत में एक छोटा सा कार फाइनेंस का कारोबार चलाते थे लेकिन अपने बेटों को क्रिकेटर बनाने के लिए उन्होंने अपने व्यवसाय को बिना ध्यान में रखते हुए वडोदरा में बसने का फैसला किया था। दोनों भाई अगर आज इंटरनेशनल क्रिकेटर बनने में सफल रहे हैं तो इसका पूरा श्रेय उनके पिता को जाता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending