फिल्म सूर्यवंशी में मुसलमानो के किरदार पर उठ रहे सवालों के बीच बोले रोहित शेट्टी; जब हिंदू खलनायक थे, तब क्यों नहीं हुई किसी को आपत्ति

हाल ही में रिलीज हुई बॉलीवुड फिल्म ‘सूर्यवंशी’ को बॉक्स ऑफिस पर ऑडियंस से जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है। इस बीच फिल्म निर्देशक व निर्माता रोहित शेट्टी का एक टीवी इंटरव्यू सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हो रहा है। जिसमे वह पत्रकार से खासे नाराज नजर आ रहे है। दरअसल वायरल हो रही वीडियो में रोहित शेट्टी फिल्म सूर्यवंशी को लेकर एक न्यूज चैनल ‘द क्विंट’ को अपना इंटरव्यू देते नजर आ रहे है।

वीडियो मे ‘द क्विंट’ के पत्रकार अबीरा धर रोहित शेट्टी पर ‘अच्छे मुस्लिम’ और ‘बुरे मुस्लिम’ के सीन को लेकर आपत्ति जताते हुए कहते है कि सूर्यवंशी में मुस्लिमों को अच्छे और बुरे दोनों तरह के परिदृश्यों में दिखाया गया है। जो की समस्याग्रस्त है। रोहित शेट्टी को उनका यह सवाल कतई पसंद नहीं आता और वह पत्रकार को मुँहतोड़ जवाब देते हुए कहते है की, उनकी पिछली तीन फिल्मों में हिंदू खलनायक थे, तब किसी को कोई आपत्ति क्यों नहीं हुई?

रोहित कहते है, “अगर मैं आपसे एक सवाल पूछूँ… जयकांत शिकरे (सिंघम में) एक हिंदू मराठी थे। फिर दूसरी फिल्म आई, जिसमें एक हिंदू बाबा थे। फिर सिम्बा में दुर्वा रानाडे फिर से महाराष्ट्रियन थे। इन तीनों में नेगेटिव किरदार में हिंदू थे, तो फिर यह कोई समस्या क्यों नहीं है?” फिल्म निर्देशक रोहित शेट्टी ने आगे कहा, “अगर कोई आतंकवादी है जो पाकिस्तान से है, तो वह किस जाति का होगा?” 

शेट्टी ने कहा कि इस तरह के विवादों ने कई पत्रकारों के बारे में उनका नजरिया बदल दिया है। उन्होंने कहा, “इसने कुछ पत्रकारों के बारे में मेरा नजरिया बदल दिया है, जिन्हें मैं पसंद करता था। कि ओह, वे इसे इस तरह से दिखा रहे हैं जैसे मैंने ब्रैकेट में देखा है कि कोई उच्च जाति के हिंदुओं द्वारा बुरे मुसलमानों का प्रचार कर रहा है, जो कि बहुत गलत है। हमने ऐसा कभी नहीं सोचा था।”

उन्होंने कहा, “जब हमारा मन (चेतना) स्पष्ट है और हमने वैसा सोचा भी नहीं होता तो लोग उस पर क्यों बात कर रहे हैं?” वह पूछते हैं, “अगर कोई स्लीपर सेल है जिसपर हम बात कर रहे हैं तो वो किस जाति होगा? आखिर अच्छे और बुरे इंसान को जाति से क्यों जोड़ा जाता है? अगर वह गलत है तो सबको आपत्ति होनी चाहिए। ये सबकी नहीं एक छोटे सेगमेंट की बात है। अगर वे आपत्ति जता रहे हैं तो उन्हें नजरिया बदलने की जरूरत है न कि हमें।”

वहीं जब पत्रकार द्वारा रोहित शेट्टी से पुलिस द्वारा की गई क्रूरता पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की, लोग उस काम को नहीं सराह रहे जो काम पुलिस ने अच्छे किए हैं। उन्होंने कहा, “जो कोई भी पुलिस क्रूरता पर मुझसे पूछता है। मैं सिर्फ उन्हें यही कहता हूँ कि एक दिन के लिए पुलिस हेडक्वार्टर बंद कर दो। तुम 100 मिलाओ और कोई जवाब न हो।” रोहित कहते हैं कि अगर ट्रैफिक लाइट भी काम करना बंद कर दें तो तुरंत जाम लग जाता है। पुलिस बहुत सारे अच्छे काम करती है जिसे लोगों को जानने की जरूरत है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending