दिल्ली के एक आयुर्वेद अस्पताल के रिसर्च में किया गया दावा – च्यवनप्राश के सेवन से दूर रहता है कोरोना

कोरोना महामारी के भारत सहित पूरी दुनिया को पिछले एक साल से भी अधिक से परेशान कर रखा है. कोरोना से निपटने के लिए वैक्सीन भी आ गई है पर कोरोना की रफ्तार में फिर से एक बार इजाफा देखा जा रहा है. बात अगर पिछले 24 घंटे की करे तो पिछल 24 घंटे में कोराना के 40 हजार से अधिक मामले सामने आए है.

कोरोना को हराने के लिए मॉस्क लगाना, हाथों को सेनिटाइज करना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना लोगों की आदत बन चुकी है. इसके साथ ही कोरोना को हराने के लिए हमे हमारे खान – पान में कुछ चिजों की सलाह भी दी जाती है.

27 12 2020 corona jagran pic 21211032

इसी बीच दिल्ली सरकार के एक आयुर्वेद अस्पताल ने च्यवनप्राश को कोरोना से लड़ने में कारगर बताया है. दरअसल, दिल्ली के चौधरी ब्रह्मा प्रकाश आयुर्वेद चरक संस्थान ने अपनी एक रिसर्च में दावा किया है कि च्यवनप्राश का लगातार सेवन करने से कोरोना के गंभीर खतरे के संक्रमण के खतरे से काफी हद तक सुरक्षा मिल सकती है.

ये स्टडी पिछले साल 200 कोविड नेगेटिव हेल्थकेयर प्रोफेशनलों पर की गई थी जहां लोगों को 12 – 12 च्यवनप्राश दिन में दो बार दिया गया.

एक महीने तक की गए इस रिसर्च के बाद किसी भी ग्रुप में कोरोना का कोई भी मामला सामने नहीं आया और स्टडी के परिणाम काफी सफल रहे. गौरतलब है कि च्यवनप्राश को हमेशा के इम्यूनिटी बूस्टर के तौर पर जाना जाता है.

कोरोना के इस काल में इम्यूनिटी को किस तरह बढ़ाया जाए इस बात सबसे अधिक ध्यान दिया गया है और ये समय की जरूरत भी है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending