आरबीआई ने अपनाया उदार रुख, बैंकों की अल्पकालिक उधार दर को 4 प्रतिशत पर बनाए रखा

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) गवर्नन शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को देश में विकास को समर्थन देने के अपने रुख को जारी रखते हुए मॉनेटरी पॉलिसी का ऐलान किया। MPC ने पॉलिसी दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। रेपो रेट 4 फीसदी पर बरकरार है। आरबीआई गवर्नर ने कहा कि कमिटी ने एकराय से पॉलिसी दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर स्थित रहेगी।

इसके अलावा, आरबीआई ने उच्च खुदरा मुद्रास्फीति के स्तर के बावजूद आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए विकास-उन्मुख समायोजन रुख को बरकरार रखा है। इसी तरह, रिवर्स रेपो दर को 3.35 प्रतिशत और मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी (एमएसएफ) दर और ‘बैंक दर’ को 4.25 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखा गया है।

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि जब तक जरूरी नहीं है, वह अकोमोडिडिटव रुख कायम रखने के पक्ष में हैं। उन्‍होंने कहा कि ग्रोथ के लिए पॉलिसी सपोर्ट जरूरी है। आरबीआई का फोकस सप्‍लाई, डिमांड बेहतर करने पर है। उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीनेशन से अर्थव्‍यवस्‍था को रफ्तार मिलने की उम्‍मीद है। कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर से अब अर्थव्यवस्था उबर रही है। वैक्सीनेशन बढ़ने से इकोनॉमिक एक्टिविटी बढ़ी है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending