रामदेव ने फिर उठाए एलोपैथी पर सवाल कहा, डॉक्टर्स को पढ़ाया जाने वाला सिलेबस ड्रग माफिया तैयार करता है

पिछले दिनों स्वामी रामदेव ने डॉक्टर्स और अंग्रेजी दवाइयों का काफी मजाक बनाया था जिसके बाद देश के तमाम राज्यो के डॉक्टर्स ने उन के बयान पर कड़ा ऐतराज जताते हुए भारी विरोध प्रदर्शन किया था। कुछ हॉस्पिटल्स में डॉक्टर्स हड़ताल पर भी बैठ चुके थे। सोशल मीडिया पर भी स्वामी रामदेव की किरकिरी होने लगी थी जिसके बाद मामला तूल पकड़ता देख उन्होंने अपने बयान से बाद में पलटी मारकर सभी डॉक्टर्स से माफी मांग ली थी।

इस विवाद को अभी कुछ हफ्ते भी नही हुए थे की एक बार फिर से योग गुरु बाबा रामदेव ने एलोपैथी पर विवादित बयान दे दिया है। ग़ाज़ियाबाद में पतंजलि वैलनेस सेंटर के उद्घाटन समारोह में पहुंचे योगगुरु स्वामी रामदेव ने एक बार फिर एलोपैथी के खिलाफ विवादित बयान दिया है। उन्होंने कार्यक्रम में मंच से बोलते हुए कहा कि एलोपैथी के डॉक्टर्स को जो सिलेबस पढ़ाया जाता है उस सिलेबस को देश का ड्रग माफिया तैयार करता हैं। 

जिसको एलोपैथी में एविडेंस बेस्ड रिसर्च कहते है, उसे स्वामी रामदेव ने ड्रग इंडस्ट्री का सिलेबस बता कर एक बार फिर नया विवाद खड़ा कर दिया है। रामदेव ने कहा है कि डॉक्टर्स को जो रिसर्च पढ़ाई जाती है उसे भी ड्रग इंडस्ट्री तैयार करती है। यही नही उन्होंने कहा कि एलोपैथी अल्टीमेट नही है। लेकिन जब मैं ऐसा कहता हूँ तो लोग मुझ पर गुर्राते है। अर्थिरीतिस आने वाले समय मे वो देश के सबसे बड़ा एलोपैथी हॉस्पिटल भी बनाएंगे। 

इसके साथ ही स्वामी रामदेव ने पतंजली से ठगी के सिलसिले में नैनीताल हाईकोर्ट का रुख किया गया है ताकि ठगी करने वालो की सीबीआई जांच हो सके। रामदेव ने कहा कि अब तक पतंजलि के नाम पर रोजाना 5 से 10 लाख की ठगी होगी है। स्वामी रामदेव ने दावा किया है कि अब तक 5 करोड़ से ज्यादा की ठगी हो चुकी है। जिसके शिकार IAS और IPS भी हो चुके है। रामदेव ने बताया कि तीन दिन पहले ही उन्हें राजनाथ सिंह के सेक्रेटरी के खुद के साथ हुई ठगी की जानकारी दी है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending