किसानो के समर्थन में आगे आए राहुल गांधी, ट्रैक्टर लेकर पहुंचे संसद बोले- सरकार किसानों की आवाज को दबा रही है

विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख सभी विपक्षी पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है। इसी कड़ी में किसानो को अपना हथियार बनाकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को ट्रैक्टर लेकर संसद पहुंचे। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि मैं किसानों का संदेश लेकर संसद आया हूं। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आवाज को दबा रही है और उनके मुद्दों पर संसद में चर्चा नहीं होने दे रही। 
तीन नए कृषि कानूनों को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि ये काले कानून हैं और सरकार को इन्हें वापस लेना ही होगा। पूरा देश यह जानता है कि ये कानून देश के 2 से 3 कारोबारियों को ही फायदा पहुंचाने वाले हैं। 
राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा, “सरकार के मुताबिक किसान काफी खुश हैं। संसद के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोग आतंकवादी है। लेकिन हकीकत में किसानों के अधिकारों को छीना जा रहा है।”
सरकार पर कृषि कानूनों के जरिए कारोबारियों की मदद का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पूरा देश यह बात जानता है कि किनके लिए यह सब किया जा रहा है। ये कानून किसानों के हित में नहीं हैं और इन्हें वापस लिया जाना चाहिए।
हालांकि राहुल गांधी को ट्रैक्टर लेकर संसद परिसर के अंदर नहीं जाने दिया गया। उनके काफिले में शामिल ऐसी गाड़ियों को ही एंट्री मिली, जिन पर पार्लियामेंट का पास लगा हुआ था। ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस के महासचिव रणदीप सुरजेवाला, यूथ कांग्रेस के चीफ बीवी श्रीनिवास और कई अन्य नेताओं को हिरासत में ले लिया है। इन नेताओं पर पुलिस ने धारा 144 को तोड़ने का आरोप लगाया है।
बता दें राहुल गांधी के अलावा शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी के सांसदों ने भी तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ सदन के बाहर प्रदर्शन किया है। इस बीच पेगासस रिपोर्ट पर विपक्ष के हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है। वहीं लोकसभा की कार्यवाही भी हंगामे की वजह से दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending