QUAD देशों के प्रमुखों की आज होगी बैठक, चार देशों के प्रमुख होंगे शामिल

आज क्वाड देशों के प्रमुख पहली शिखर सम्मेलन करेंगे, जिसमें भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्र
प्रमुख हिंद-प्रशांत क्षेत्र में आपसी सहयोग को लेकर विचार-विमर्श करेंगे और कोरोना महामारी से प्रभावी तरीके से
निपटने के लिए टीके की आपूर्ति को लेकर भी बातें होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आज इस सम्मेलन में हिस्सा
लेंगे। यह सम्मेलन वर्चुअल होगी। पीएम मोदी के साथ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, जापान के प्रधानमंत्री
योशिहिदे सुगा और ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरीसन भी शामिल होंगे। 

सूत्रों के अनुसार, इस शिखर सम्मेलन में क्वाड के सभी देश कोविड-19 के वैश्विक टीका आपूर्ति को तेज करने और
हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सस्ते और सुरक्षित टीके की आपूर्ति के लिए ठोस कदम उठाने पर विचार करेंगे। सूत्रों की माने तो
क्वाड में टीके को लेकर पहल के अलावा टीका के निर्माता और आपूर्तिकर्ता के रूप में भारत की साख और मजबूत
होगी जिससे दुनिया में औषधि के क्षेत्र में देश का कद बढ़ेगा। वहीं सूत्रों का कहना है कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की
बढ़ती चुनौती को संतुलित करने के उद्देश्य से चार देशों के प्रमुखों की यह पहली बैठक होगी। अमेरिका के राष्ट्रपति
बाइडन प्रभार संभालने के दो महीने के भीतर ही शिखर सम्मेलन में शिरकत करने वाले हैं।

पीएम मोदी की बाइडन के साथ पहली बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ किसी संगठन के दौरान होने वाली पहली बैठक
होगी।परंतु इससे पहले भी पीएम मोदी की जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट
मॉरीसन के साथ वर्चुअल बैठक हो चुकी है। मोदी की बाइडन से अभी तक मात्र एक बार ही टेलीफोन पर बातचीत हुई
है। 

सम्मेलन में किन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा
भारत के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया कि शिखर सम्मेलन में समकालीन चुनौतियों के अलावे
उभरती और महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों, लचीली आपूर्ति श्रृंखला, समुद्री सुरक्षा और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर
चर्चा होगी। सभी देशों के प्रमुख कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए चल रहे प्रयासों पर भी चर्चा करेंगे।

क्या है क्वाड

क्वाड का फुलफोर्म ‘क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग’ है, इसमें चार देश भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया
आते हैं। क्वाड संगठन का मुख्य मकसद एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शांति स्थापित करना और संतुलन बनाए रखना है।
बता दें कि साल 2007 में जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो अबे के द्वारा क्वाड का प्रस्ताव पेश किया गया था।
भारत, अमेरिका और आस्ट्रेलिया के द्वारा इस प्रस्ताव का समर्थन किया गया। जिसके कई साल बाद 2019 में इन
सभी क्वाड देशों के विदेश मंत्रियों की पहली बैठक हुई थी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending