पुणे: 79 गांवों में मंडराया जीका वायरस का खतरा, अलर्ट पर स्वास्थ्य विभाग, इमरजेंसी सेवाओं की हुई तैयारी

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस ने पुलिस से लेकर प्रशासन तक की जड़े हिलाकर रख दी थी। अभी कोरोना का कहर शांत हुआ ही था की अब महाराष्ट्र में जीका वायरस का खतरा बढ़ गया है। दरअसल महाराष्ट्र के पुणे में जीका वायरस का पहला मामला मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है।

बता दें कि जीका वायरस एडीज मच्छर से फैलता है। ये ही मच्छर डेंगू और चिकनगुनियां फैलाते हैं। ऐसे मच्छर महाराष्ट्र समेत पूरे देश में देखने को मिलते हैं। जिला प्रशासन ने 79 गांवों में जीका वायरस के आने की आशंका जताई है। स्वास्थ्य विभाग इन सभी गांवों को आपातकालीन सेवाओं के लिए तैयार कर रहा है।

जिला कलेक्टर ने 5 अगस्त को जारी अपने आदेश में कहा कि पुणे जिले के 79 गांवों को जीका वायरस संक्रमण के लिए निगरानी में रखा जाएगा। स्थानीय प्रशासन को इन गांवों पर नजर रखने को कहा गया है। कलेक्टर डॉक्टर राजेश देशमुख ने इन गांवों की लिस्ट भी जारी की है, जिन गावों में जीका, डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियां हैं।

इसी वजह से जिला कलेक्टर ने कहा है कि जिन गांवों में पिछले तीन सालों में लगातार डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बिमारियां है, उन्हें जीका वायरस के लिए अतिसंवेदनशील माना जाए। यदि इन 79 गांवों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामले पाए जाते हैं, तो जीका संक्रमण के लिए उनके रक्त के नमूनों की भी जांच की जाएगी। इसके अलावा, ग्राम पंचायत स्तर पर, जिला प्रशासन ने तालुका प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को एहतियाती उपायों को तुरंत लागू करने का निर्देश दिया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending