श्रीनगर से दिल्ली तक सिख समुदाय का विरोध प्रदर्शन, लव जिहाद के मामले में मोदी शाह से लगाई मदद की गुहार…!!

कभी धर्म परिवर्तन पर हिंदू लड़कियों को सिख देने वाले कथित तौर पर हिंदू धर्म पर ही सवाल खड़े करने वाले सिख समुदाय के लोग आज खुद ही धर्मांतरण के खिलाफ श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन कर रहे है। प्रदर्शन केवल श्रीनगर तक ही सीमित नहीं है दिल्ली के भी कई इलाकों मे जागो पार्टी द्वारा जगह जगह धरना प्रदर्शन जारी है। वहीं, देहरादून में भी सिख समुदाय ने विरोध प्रदर्शन किया।

ये वहीं लोग है जो एक समय पहले लव जिहाद के मसले पर सियासी ढपली बजाया करते थे। भारत में धर्मांतरण विरोधी कानूनों के लिए हिंदू धर्म को “कमजोर धर्म” बता कर मजाक उड़ाने वाले अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा अब सिख बच्चियों को जबरन धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनने से बचाने के लिए यूपी वाला कानून चाहते हैं।

इसके साथ ही सिरसा और प्रदर्शनकारियों ने जम्मू-कश्मीर के सिखों की परेशानियों को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र भी लिखा है। तो वहीं मंगलवार को प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए जागो पार्टी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने कहा कि, “जम्मू-कश्मीर में सिखों के साथ केंद्र सौतेला व्यवहार कर रहा है। सरकार को यह नहीं भूलना चाहिए कि अगर आज कश्मीर घाटी भारत के साथ हैं, तो उसके पीछे सिखों की बड़ी कुर्बानी है। क्योंकि उन्होंने बुरे हालातों में भी घाटी में टिके रहने मंजूर किया, कश्मीरी पंडितों की तरह पलायन को तरजीह नहीं दी। “

दरअसल, सिख समुदाय का आरोप है कि श्रीनगर में पहले भी ऐसे मामले हुए हैं जहां लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन करवाया गया। प्रदर्शन कर रहे लोगों की मांग है कि धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने वाली सिख लड़की को उन्हें सौंप दिया जाए। प्रदर्शनकारियों के मुताबिक 18 साल की सिख लड़की को लालच देकर फंसाया गया फिर उसका धर्म परिवर्तन कराया गया। उन्होंने इसे लव जिहाद का मामला बताया और सरकार से इस मामले में दखल देने की मांग की।

श्रीनगर में शिरोमणि अकाली दल नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा की,दो सिख लड़कियों को बंदूक की नोक पर अगवा किया गया और जबरन धर्म परिवर्तन किया गया और एक अलग धर्म के बुजुर्ग पुरुषों से शादी कर दी गई। मैं इस मसले पर गृहमंत्री अमित शाह से कार्रवाई की अपील करता हूं।

सिरसा ने आगे कहा की, जिस लड़की की मुस्लिम से शादी की गई है उसकी पहले से ही 2-3 शादियां हो चुकी हैं। सिरसा ने केंद्र से अपील करते हुए कहा कि यूपी और मध्य प्रदेश की तरह यहां भी धर्मांतरण कानून लागू किया जाए। वहीं, सिरसा ने दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में दो नहीं चार लड़कियों का धर्मांतरण हुआ है।

गौरतलब हो की ये वहीं सिरसा और वही सिख समुदाय के लोग है जिन्होंने यूपी में लव जिहाद के खिलाफ़ कानून बनाए जाने पर सनातन धर्म को कमजोर बताते हुए कहा था की, “आपका धर्म इतना कमजोर क्यों है, ऐसा धर्म ही क्यों है जिसे कानून का सहारा लेकर बचाना पड़े। सिरसा ने हिंदू धर्म को पाप तक कह दिया था।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending