पुलिस प्रशासन पर भड़की प्रियंका गांधी, कहा- हिम्मत है तो छू कर दिखाओ बिना वारंट के हाथ भी नहीं लगा सकते

यूपी के लखीमपुरखीरी में रविवार को बीजेपी नेताओं ने किसानों पर कथित तौर पर गाड़ी चढ़ा दी जिसके बाद गुस्साए किसानों ने भी बीजेपी नेताओं को 2 गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इस पूरे मामले ने राजनीतिक रूप ले लिए है। प्रियंका गांधी सोमवार सुबह लगभग 5.30 बजे करीब लखीमपुरखीरी पहुंची। इस दौरान प्रियंका गांधी और पुलिसवालों के बीच लंबी कहासुनी भी हुई। जिसके बाद पुलिस ने सीतापुर से प्रियंका को हिरासत में ले लिया।

प्रियंका गांधी ने पुलिसवालों को कहा कि वह सभी कानून जानती हैं और पुलिस उन्हें ऐसे ही बिना वारंट के नहीं पकड़ सकती। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह आपने मुझे धक्का मारा, जबरन ले जाने की कोशिश की वह फिजिकल असॉल्ट, किडनैप की कोशिश, किडनैप की धाराओं में आता है। मैं सब समझती हूं, छूकर दिखाओ मुझे। जाकर अपने अफसरों से, मंत्रियों ने वारंट लाओ, ऑर्डर लाओ।’ प्रियंका आगे कहती हैं, ‘अरेस्ट के लिए महिलाओं (महिला पुलिसकर्मी) को आगे मत करो। महिलाओं से बात करना सीखो।’

जानिए पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र और UP के डिप्टी CM केशव मौर्य एक कार्यक्रम के लिए लखीमपुर खीरी पहुंचे थे। जब इसकी जानकारी कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को लगी, तो वे हेलिपैड पर पहुंच गए। किसानों ने रविवार सुबह 8 बजे ही हेलिपैड पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद,

दोपहर करीब 2.45 बजे सड़क के रास्ते मिश्र और मौर्य का काफिला तिकोनिया चौराहे से गुजरा, तो किसान उन्हें काले झंडे दिखाने दौड़ पड़े। इसी दौरान काफिले में शामिल अजय मिश्र के बेटे आशीष ने अपनी गाड़ी किसानों पर चढ़ा दी। यह देखकर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने आशीष मिश्र की गाड़ी समेत दो गाड़ियों में आग लगा दी। इस पूरे मामले में अब तक कई लोगों की मौत हो गई है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending