प्रधानमन्त्री योजना; गरीबों को मिलेगा 5 किलो अनाज मुफ्त, गरीब कल्याण योजना के तहत बंटेगा गेहूं-चावल

कोरोना से बचने के एकमात्र उपाय लॉक डाउन को देखते हुए सरकार ने देश के बहुत से हिस्सों में लॉक डाउन लगाया है जिससे गरीबो के सामने राशन पानी का इंतजाम करना एक बहुत बड़ी चुनौती बन गया है गरीबों की बेबसी और लाचारी को देखते हुए सरकार ने एक बेहद सराहनीय कदम उठाया, केंद्र सरकार ने एक बार फिर से लागू की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना। इसके तहत केंद्र सरकार मई और जून के महीने में हर गरीब को 5 किलो अनाज मुफ्त देगी। सरकार ने कहा कि, गेहूं की कीमत 27 रुपए प्रति किलो है, लेकिन राशन की दुकानों के जरिए यह 2 रुपए प्रति किलो की रियायती दर पर दिया जाएगा। इसी प्रकार 37 रुपए प्रति किलो की लागत वाला चावल 3 रुपए प्रति किलो की दर पर दिया गया।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत पिछले साल राशनकार्ड धारकों को मौजूदा कोटे से अलग 5 किलो प्रति व्यक्ति गेहूं या चावल खरीदने की सुविधा भी दी गई थी। इसके तहत गेहूं 2 रुपए प्रति किलो और चावल 3 रुपये प्रति किलो की दर से बेचा गया था। इस योजना के तहत देश के करीब 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज मिल सकेगा। अधिकारियों के मुताबिक, मुफ्त अनाज देने पर करीब 26 हजार करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

पिछले साल भी लागू हुई थी योजना

पिछले साल कोरोना संक्रमण के दौरान केंद्र सरकार ने देशभर में लॉकडाउन लगाया था। उस दौरान गरीबों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत हर गरीब को हर महीने 5 किलो गेहूं या चावल और हर परिवार को एक किलो चना मुफ्त दिया गया था। मार्च में तीन महीने के लिए यह योजना लॉन्च की गई थी। बाद में इसे बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 तक के लिए लागू कर दिया था। इस योजना के तहत मिलने वाला अनाज मौजूदा कोटे के अलावा दिया गया था।

देश में शुक्रवार को 24 घंटे में सबसे ज्यादा नए मरीज मिले। इस दौरान 3 लाख 32 हजार 320 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। ये लगातार दूसरा दिन है जब देश में एक दिन के अंदर तीन लाख से ज्यादा मरीजों की पहचान हुई है। इससे पहले बुधवार को 3.15 लाख लोग संक्रमित पाए गए थे। गुरुवार को एक दिन के अंदर 2,256 मरीजों ने दम तोड़ दिया। कोरोना से एक दिन के अंदर मरने वालों का यह आंकड़ा सबसे ज्यादा है। इससे पहले बुधवार को 2,101 और मंगलवार को 2,021 मौतें हुई थीं। इस मामले में अब भारत दुनिया में पहले नंबर पर पहुंच गया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending