कुंभ मेले की अवधि तय होते ही तैयारियां हुई तेज, इस बार मात्र एक महीने का होगा महाकुंभ

कुंभ मेले का आयोजन इस बार धार्मिक नगरी हरिद्वार में होने जा रहा है. कुंभ मेले की तैयारियां हरिद्वार में जोरों पर हैं और अब कुंभ मेले की अवधि तय हो जाने के बाद इस तैयारियों में और तेजी देखने को मिल रही है. 

कोरना के इस काल में कुंभ का आयोजन उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार के लिए एक चुनौती भी है और कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ही कुंभ मेले की तैयारियां की जा रही हैं.

इसी बीच कुंभ की समय सीमा तय होने पर मेला अधिष्ठान एक्शन मोड में आता नजर आ रहा है. कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने बुधवार को अधिकारियों के साथ कुंभ कार्यों को लेकर बैठक की और प्रगति रिपोर्ट की समीक्षा की.

download 6 1

बताया गया है कि हरिद्वार में आस्था पथ पर चल रहा कार्य 22 फरवरी तक पूरा हो जाएगा. इसके अलावा अधिकारियों ने बताया कि कावड़ पट्टी का कार्य भी 97 फ़ीसदी पूरा हो चुका है और शेष कार्य भी जल्द ही पूरे कर लिए जाएंगे. वही गणेशपुर ब्रिज का 90 फ़ीसदी, हिल बाईपास 80,फ़ीसदी, हेमागुड़ा में 100 फ़ीसदी कार्य पूरा हो चुका है. साथी जानकारी दी गई कि ओल्ड जबलपुर में सड़क का कार्य शुरू हो चुका है और पेशवाई रोड 14 से 6 किलोमीटर पूरी हो चुकी.

गौरतलब है कि कोविड -19 को ध्यान में रखते हुए ही इस बार कुंभ मेले की अवधि मात्र 1 महीने ही रखी गई है यानि इस बार कुंभ मेला केवल एक महीने का ही होगा.

कोरोना संक्रमण के इस काल में उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाहती और कोरना को ध्यान में रखते हुए ही कुंभ की तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा है.

जैसा कि अब कुंभ की अवधि तय हो चुकी है तो मेला अधिष्ठान जोरों शोरों के साथ कुंभ मेले की तैयारियों में लग गया है. त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार का दावा है कि समय पर कुंभ मेले की तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी और कुंभ मेले में आने वाले तीर्थ यात्रियों को किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना होगा.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending