पीएम मोदी ने लॉन्च किया आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन, कहा- मरीजों को कम खर्चे में मिलेगा बेहतर इलाज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को लॉन्च किया। इससे पहले यह योजना कुछ राज्यों में चल रही थी। प्रधानमंत्री ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के पायलट प्रॉजेक्ट की घोषणा 15 अगस्त 2020 को लालकिले से की थी। सरकार की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की वेबसाइट के मुताबिक, यह दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम है। इसमें 10.74 करोड़ से ज्यादा गरीब परिवारों को 5 लाख रुपये प्रति परिवार सालाना का हेल्थ कवर मिलता है। 

इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी मौजूद रहे। वहीं इस मौके पर पीएम मोदी ने जनता को भी संबोधित किया और इस मिशन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में आगे बढ़ते हुए भारत के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। बीते 7 वर्षों से देश की स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वो आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि ‘आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन’ विश्वसनीय आंकड़े प्रदान करेगा, जिससे मरीजों को बेहतर इलाज मिलेगा और उनके खर्च भी कम होंगे। उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्यायन की जयंती पर तीन साल पहले इस मिशन की शुरुआत की गई थी और इसने लाखों लोगों के गरीबी के दलदल में फंसने से बचाया है। इस अभियान ने भारत के स्वास्थ्य ढांचे में क्रातिकारी बदलाव किए हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि,

“डिजिटल इंडिया मिशन की ही देन है कि अब तक देश में 90 करोड़ कोरोना टीके लग चुके हैं। दुनिया के अडवांस देशों ने भी तकनीक का इस तरह से इस्तेमाल नहीं किया है। इससे हेल्थ सेक्टर के सभी लोग एक ही प्लेटफॉर्म पर आ सकेंगे। इसके अलावा कोई भी मरीज आसानी से एक डॉक्टर से कनेक्ट हो सकेगा। आज वर्ल्ड टूरिज्म डे भी है। आप लोग हैरान होंगे कि आखिर इन दोनों के बीच क्या संबंध हो सकता है। लेकिन ऐसा है।

क्या कोई टूरिस्ट ऐसी जगह पर जाना पसंद करेगा, जहां इमरजेंसी हेल्थ सर्विसेज का अभाव हो। फिलहाल भारत में जिस तरह का डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर है। आज देश में 130 करोड़ आधार यूजर हैं। 118 करोड़ मोबाइल यूजर्स हैं और 43 करोड़ लोगों के जनधन खाते हैं। भारत में फ्री वैक्सीन मूवमेंट के तहत 90 करोड़ डोज दी गई हैं। टीका लगवाने वालों को सर्टिफिकेट भी जारी किए गए हैं। हमें इसका क्रेडिट CoWin को भी देना होगा।”

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भारत में लोगों को मेडिकल ट्रीटमेंट में आ रही समस्याओं से राहत देगा। इससे गरीबों और मिडिल क्लास के लोगों को मदद मिलेगी। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘राशन से प्रशासन’ तक यूपीआई हर आम आदमी तक पहुंच रहा है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending