PM Kisan: योजना के तहत अयोग्य किसानो के खिलाफ होगी सख्त कारवाई, देने होंगे 39.80 लाख रुपए

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) मोदी सरकार की अब तक की सबसे सफल योजनाओं में से एक है। क्योंकि इसके जरिए आजादी के बाद पहली बार किसानों के बैंक खाते (Bank Account) में सीधे पैसा भेजा जा रहा है। यह पैसा न तो कोई अधिकारी खा सकता है और न नेता। केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत योग्य लाभार्थियों को प्रति वर्ष 6000 रुपए मिलते हैं। हर चार-चार महीने पर तीन किस्तों में किसानों को यह राशि दी जाती है। अब तक इस योजना के तहत 8 किस्त जारी हो चुकी है। अब इसकी नौवीं किस्त 1 अगस्त से शुरू होगी। बताया जा रहा है किसान नेता इसमें वृद्धि करके 24 हजार रुपये सालाना करने की मांग कर रहें है। इसकी मांग राष्ट्रीय किसान प्रोग्रेसिव एसोसिएशन एवं किसान शक्ति संघ कई बार उठा चुका है। मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम किसान योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) का लाभ काफी ऐसे किसानों भी उठा रहें है, जो इसके अधिकारी नहीं हैं। झारखंड के कोडरमा जिले में अब तक 578 किसानों की पहचान की गई है, जो इनकम टैक्स देते हैं। बावजूद इसके उन्होंने पीएम किसान योजना का लाभ ले लिया है। बता दें की इनकम टैक्स भरने वाले किसान इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। योजना का लाभ पाने के योग्य नहीं किसानों ने भी इसका फायदा ले लिया है। अब सरकार की तरफ से ऐसे किसानों के खिलाफ कार्रवाई की शुरू की गई है।

योजना के अंतर्गत आने वाले अयोग्य किसानो से वसूलें जायेंगे 39.80 लाख रुपए 

अपर समाहर्ता अनिल तिर्की ने बताया कि योग्यता नहीं रखने वाले किसानों के भुगतान पर केंद्र सरकार के स्तर से रोक लगाई जा रही है। सरकार के दिशा-निर्देश के तहत राशि वसूली की कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के मुताबिक, ऐसे किसानों से 39.80 लाख रुपए की वसूली की जाएगी। संबंधित विभाग की तरफ से किसानों को राशि वसूली के लिए नोटिस भी भेजा जा रहा है। 

योजना के अंतर्गत आने वाले अयोग्य किसान-

– केंद्र या राज्य सरकार के अधिकारी योजना से बाहर रहेंगे।
– पेशेवर डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील और आर्किटेक्ट पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं ले सकते।
– जनप्रतिनिधि जैसे, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष, विधायक, एमएलसी, लोकसभा और राज्यसभा सांसद भी योजना से बाहर हैं।
– ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हैं, वर्तमान या पूर्व मंत्री हैं, वे योजना का लाभ नहीं ले सकते।
– पिछले वित्तीय वर्ष में आयकर भुगतान करने वाले किसान इस योजना के लिए योग्य नहीं माने जाते।
– दस हजार रुपए से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को भी योजना से बाहर रखा गया है।

बता दें की पीएम किसान स्कीम की आठ किस्त पूरी हो चुकी है अब इसकी नौवीं किस्त 1 अगस्त से शुरू होगी। इसलिए अगर आप इस योजना के योग्य है और आपने अब तक इस योजना में रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है तो तुरंत कराएं रजिस्ट्रेशन, अगर इसी सप्ताह आप पंजीकरण करवा लेंगे तो हो सकता है कि वेरिफिकेशन के बाद आठवीं किस्त का भी फायदा मिल जाए।

ऐसे करें अप्लाई

– सबसे पहले पीएम-किसान के पोर्टल pmkisan.gov.in पर जाइए। 
– पोर्टल पर जाते ही एक पेज खुलेगा जिसमें आपको FARMER CORNERS का विकल्प दिखेगा। उस पर NEW FARMER REGISTRATION मिलेगा। इस पर क्लिक कीजिए।
– NEW FARMER REGISTRATION पर क्लिक करते ही आपके सामने एक नई विंडो खुलेगी। इसमें आपसे आधार कार्ड और कैपचा डालने को कहा जाएगा। फिर आपको क्लिक हियर टू कॉनिटन्यू (Click Here To Continue New) पर क्लिक करना पड़ेगा।
– इसे क्लिक करते ही एक नया पेज खुल जाएगा जिसमें आपको फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म को पूरा भरें। इसमें सही-सही जानकारी भरें। इसमें बैंक अकाउंट की जानकारी भरते समय IFSC कोड ठीक से भरकर उसे सेव कर दें।
– फिर एक और पेज खुलेगा, जिसमें आपसे आपकी जमीन की डिटेल मांगी जाएगी। इसमें खसरा नंबर और खाता नंबर भरें और सेव कर दें। आपकी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया अब पूरी हो चुकी है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) के रजिस्ट्रेशन के लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (Online Registration) खुला हुआ है। पिछले दो महीने में ही खेती के लिए सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में 21 हजार करोड़ रुपये भेजे गए हैं।

गौरतलब हो की लोकसभा चुनाव 2019 से पहले 24 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत हुई थी। हालांकि इसे 1 दिसंबर 2018 से प्रभावी माना गया था। पहली बार 3 करोड़ 16 लाख 05 हजार 539 किसानों को दो हजार रुपए की किस्त मिली थी। अब तक इस योजना के तहत 10 करोड़ से अधिक किसान रजिस्टर्ड हो चुके हैं। दिसंबर में जारी हुई किस्त 10 करोड़ 70 हजार 978 किसानों को मिली थी। वित्त वर्ष 2020-21 के अप्रैल-जुलाई वाली किस्त में सबसे ज्यादा किसानों को पैसा मिला था। इस दौरान केंद्र सरकार ने कुल 10 करोड़ 48 लाख 95 हजार 545 किसानों के खाते में दो हजार रुपए भेजे थे।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending