पटना: खतरे के निशान पर पहुंचा गंगा का जलस्तर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज लेंगे स्थिति का जायजा

बिहार के बक्सर से लेकर पटना जिले में खतरे के निशान पर पहुंची गंगा। गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रहा है। गंगा और पुनपुन नदी लगातार उफान पर है। वर्तमान स्थिति को देखते हुए किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वयं स्थिति का जायजा लेंगे। सीएम के साथ जल संसाधन विभाग और आपदा विभाग के अधिकारी भी साथ रहेंगे।

दरअसल, बिहार के कई जिलों में बीते दो-तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण नदियां फिर उफान पर हैं और कई जगह खतरे के निशान से ऊपर बह रहीं हैं। गंडक, बूढ़ी गंडक, बाया, बागमती समेत पहाड़ी नदियों का कहर बरपा रहीं हैं। कई जगहों पर गंगा खतरे के निशान को पार कर चुकी है, वहीं कोसी का पानी भी कई गांवों में फैल गया है। 

बता दें पटना के दीघा घाट में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 53 सेंटीमीटर ऊपर है, इसके जलस्तर में भी 12 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है। वहीं गांधी घाट में गंगा नदी का जलस्तर 112 सेंटीमीटर ऊपर है, इसमें भी 10 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है। पटना जिले के हाथीदह में भी गंगा का जलस्तर 102 सेंटीमीटर ऊपर है, इसके जलस्तर में 17 सेंटीमीटर वृद्धि होने की संभावना है।

वहीं बक्सर में गंगा नदी का जलस्तर 35 सेंटीमीटर ऊपर है। इसके जलस्तर में 16 सेंटीमीटर की वृद्धि होने का अनुमान है। वहीं भागलपुर में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 14 सेंटीमीटर ऊपर है। कहलगांव में 79 सेंटीमीटर ऊपर तो साहिबगंज में 72 सेंटीमीटर ऊपर है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending